सही ट्रेडिंग रणनीति कैसे बनाएं: 5 महत्वपूर्ण कदम

इंटरनेट पर कई सारी ट्रेडिंग रणनीतियाँ हैं। हालांकि, उनमें से ज्यादातर शेयर बाजार के लिए विकसित की गई थी। हर बाजार की अपनी अनूठी विशेषताएं होती हैं। उदाहरण के लिए, एक परफेक्ट फोरेक्स ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी क्रिप्टोकुरेंसी बाजार के लिए उतनी सही नहीं होगी। इसलिए, आपको सफलतापूर्वक ट्रेडिंग करने के लिए अपना एप्रोच विकसित करने की आवश्यकता है। फिर भी, आप अपनी स्वयं की पद्धति के आधार के रूप में मानक रणनीतियों का उपयोग कर सकते हैं।

सबसे अच्छी ट्रेडिंग रणनीति क्या है? आइए इसका जवाब ढूंढते हैं।

1. धन प्रबंधन

दिन के कारोबार के लिए 3 प्रभावी निकास रणनीतियों

एक अच्छी ट्रेडिंग रणनीति क्या है? यह वह है जो आपको अपना सारा धन हारने नहीं देती है। आपको एक ऐसी राशि का निवेश करने की आवश्यकता है जो आपके दैनिक जीवन को प्रभावित न करे। नुकसान के लिए तैयार रहें, और उन्हें आपके लिए सहने के लिए सहज बनाएं। एक जीतने वाला ट्रेड दूसरे की गारंटी नहीं देता है – इसलिए एक और सफल ट्रेड की उम्मीद में आप जितना खर्च कर सकते हैं उससे अधिक धन खर्च का जोखिम न लें।

आंकड़ों के अनुसार, 25% -50% ट्रेडर्स अपने बजट का केवल 2.1% फोरेक्स ट्रेडिंग पर खर्च करते हैं।

2. बाजार चुनें

प्रत्येक बाजार की अपनी विशेषताएं और कारक होते हैं जो कुछ संपत्तियों के मूल्य को प्रभावित करते हैं। उदाहरण के लिए, माइक्रोसॉफ्ट कारपोरेशन की आंतरिक घटनाएँ बिटकॉइन की दिशा को प्रभावित नहीं करेंगी। हालांकि, वे माइक्रोसॉफ्ट के अपने शेयरों का मूल्य निर्धारित करेंगे।

इसके अलावा, परिसंपत्तियां अस्थिरता के आधार पर भिन्न होती हैं। क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार में उच्च अस्थिरता है, जबकि फोरेक्स पर प्रमुख करेंसी पेयर को स्थिर संपत्ति माना जाता है। इसलिए, इससे पहले कि आप अपनी रणनीति बनाना शुरू करें, परिभाषित करें कि कौन सी संपत्ति आपको अधिक आकर्षक लगती है। आप अपनी पसंद को विभिन्न कारकों पर आधारित कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. ज्ञान: हो सकता है कि आप पहले से ही उस संपत्ति के बारे में कुछ जानते हों जिसका आप ट्रेड कर सकते हैं। यदि आप शेयरों में रुचि रखते हैं, तो आप जान सकते हैं कि कौन से कारक उनके मूल्य को प्रभावित करते हैं। या, यदि आप एक क्रिप्टो प्रेमी हैं, तो आपको क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार के बारे में सब कुछ पता होना चाहिए।
  2. अस्थिरता का स्तर: अत्यधिक उतार-चढ़ाव वाले बाजार बड़े रिटर्न प्रदान कर सकते हैं, जबकि कम अस्थिरता वाले बाजार स्थिर रिवार्ड्स प्रदान कर सकते हैं।
  3. आपके पास मौजूद राशि: संपत्ति के लिए अलग-अलग निवेश की आवश्यकता होती है। इसलिए, आपको यह मूल्यांकन करने की आवश्यकता है कि आप लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कितना खर्च कर सकते हैं।

3. समय सीमा

एक ट्रेडिंग रणनीति उस समय सीमा के अनुरूप होनी चाहिए जिस पर आप ट्रेड करते हैं। उदाहरण के लिए, सही इंट्राडे ट्रेडिंग रणनीति शॉर्ट-टर्म टाइमफ्रेम (लोअर H4), पर बनाई जाएगी, जबकि सबसे अच्छी पोजीशन ट्रेडिंग रणनीति के लिए आपको महीनों या वर्षों तक एक पोजीशन को होल्ड करने की आवश्यकता होगी।

कमाने के लिए तैयार हैं?
Binomo पर जाएँ

यदि आप कम समय सीमा चुनते हैं, तो आपको लगातार बाजार पर नजर रखने के लिए तैयार रहने की जरूरत है, उन सभी घटनाओं से अवगत रहें जो एक दिन के भीतर किसी संपत्ति की कीमत को प्रभावित कर सकती हैं, और एक छोटी अवधि के भीतर कई ट्रेडों को खोलने के लिए तैयार रहें। इससे फीस बढ़ सकती है।

कमाई-गति रणनीति: एक पूर्ण ट्यूटोरियल 2022

हालांकि, यदि आप उच्च समय सीमा पर ट्रेड करते हैं, तो बाजार के पलटने की स्थिति में पोजीशन के परिसमापन से बचने के लिए आपको अधिक धन की आवश्यकता होती है।

4 मानसिक हैक्स जो आपके व्यापार को बेहतर के लिए बदल देंगे
बाज़ार की ओर देखने का तरीका बदलते हुए अपनी ट्रेडिंग में वृद्धि करना चाहते हैं? 4 मानसिक हैक सीखें जिन्हें तुरंत लागू किया जा सकता है।
अधिक पढ़ें

4. इंडीकेटर्स और उनकी सेटिंग्स निर्धारित करें

शुरुआती लोगों के लिए सबसे अच्छी ट्रेडिंग रणनीति क्या है? शुरुआती लोगों के लिए सबसे प्रभावी रणनीति वह है जो मौलिक और तकनीकी विश्लेषण को जोड़ती है। मूल्य चार्ट पर लागू इंडिकेटर में मानक सेटिंग्स होती हैं। हालाँकि, वे लघु और दीर्घकालिक ट्रेडों के लिए समान कार्य नहीं कर सकते हैं। इसलिए, आपको उनका परीक्षण करने और उन मापदंडों को निर्धारित करने की आवश्यकता है जो आपकी रुचि वाली समय सीमा पर काम करेंगे।

ऐतिहासिक डेटा का उपयोग करें और मूल्य और टूल्स के बीच अंतर्संबंध की जांच करने के लिए इंडिकेटर की सेटिंग बदलें।

5. स्टॉप-लॉस और टेक-प्रॉफिट ऑर्डर

यहां तक ​​​​कि अगर आप एक संपूर्ण डे ट्रेडिंग रणनीति बनाना चाहते हैं या पूरे दिन मॉनिटर के सामने रहने की योजना बनाते हैं, तो आपको स्टॉप-लॉस और टेक-प्रॉफिट स्तरों को सेट करना होगा, खासकर यदि आप ट्रेंड्स पर या अत्यधिक अस्थिर बाजारों में ट्रेड करते हैं। जैसे-जैसे कीमत तेजी से बदलती है, आपको न्यूनतम नुकसान या अधिकतम रिटर्न के साथ बाजार से बाहर निकलने में सक्षम होना चाहिए। अपने ट्रेडिंग एप्रोच के अनुसार इन स्तरों को निर्धारित करें।

सबसे सफल ट्रेडिंग रणनीति क्या है?

सबसे सफल ट्रेडिंग रणनीति वह है जो आपके लक्ष्यों, संतुलन और जीवन शैली के अनुकूल हो। हर ट्रेडर के लिए कोई भी एक परफेक्ट रणनीति नहीं है। केवल वही ट्रेडर जो अपन एप्रोच खुद विकसित कर सकता है, वह लंबी अवधि में सफल हो सकता है।

लाइक
साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!
सबंधित आर्टिकल
4 मिनट
ब्योरगम कुंजी स्तर की रणनीति - एक सावधानीपूर्वक मूल्यांकन
5 मिनट
बोलिंगर बैंड ट्रेडिंग रणनीति क्या है?
6 मिनट
न्यूनतम नुकसान के साथ व्यापार कैसे करें: 7 सुनहरे नियम
5 मिनट
एक सरल चलती औसत ट्रेडिंग रणनीति क्या है?
5 मिनट
एल्गोरिथम ट्रेडिंग रणनीतियाँ: एआई का उपयोग करके ट्रेडिंग करना
4 मिनट
अपनी एंट्री कैसे सुधारें: 5 प्रभावशाली तरकीबें

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें