Glossary

अमेरिकी डॉलर

संयुक्त राज्य अमेरिका की आधिकारिक मुद्रा (प्रतीक और कोड: $, USD)। अधिकांश देश अमेरिकी डॉलर में अपने विदेशी मुद्रा भंडार रखते हैं। यह विदेशी मुद्रा बाज़ार में मुख्य परिसंपत्ति भी है।

अस्थिरता या वोलैटिलिटी

एक निश्चित समय अवधि के भीतर मूल्य परिवर्तन दिखाने वाला एक संकेतक। मूल्य के मानक विचलन को परिभाषित करके वित्तीय बाज़ार पर अस्थिरता को मापा जाता है। उदाहरण के लिए, S&P 500 अस्थिरता VIX संकेतक द्वारा मापी जाती है।

ऊपर या UP ट्रेड

इस पूर्वानुमान के साथ ट्रेड कि एसेट की क़ीमत ऊपर जाएगी और ट्रेड समाप्ति के समय का मूल्य ट्रेड खुलने के समय के मूल्य से ज़्यादा होगा।

एसेट या परिसंपति

कमोडिटीज़ (GOLD, OIL), कंपनी शेयर (BMW, Google), मुद्रा जोड़ियां (GBP/USD, EUR/USD, AUD/USD), इंडेक्स या सूचकांक (CAC40, DAX, S & P 500), जोड़ियां (GOLD/SILVER), यानी वे वित्तीय साधन या फ़ाइनैंशियल इंस्ट्रुमेंट जिनकी मूल्य गतिशीलता पर ट्रेड आधारित होते हैं।

ऑर्डर

1) ट्रेडिंग ऑर्डर - शब्द "लेनदेन" का संकेत देता है, लेकिन, एक लेनदेन पूर्ण कार्रवाई का संकेत देता है, जबकि ऑर्डर एक ट्रेडर से प्राप्त किसी भी ट्रेडिंग ऑर्डर का संकेत दे सकता है। 2) ट्रेडर का एक निर्देश जो इलेक्ट्रॉनिक प्रारूप में ब्रोकर के सर्वर को भेजा जाता है। ब्रोकरेज कंपनी अपने ग्राहक की ओर से बाज़ार में लेनदेन करती है। एक ट्रेडिंग ऑर्डर ब्रोकर के सर्वर पर रिकॉर्ड किया जाता है।

ऑस्ट्रलियाई डॉलर

ऑस्ट्रेलिया की आधिकारिक मुद्रा ("ऑस्ट्रेलियाई"; कोड: AUD), फ़ॉरेक्स बाज़ार में कारोबार करने वाले प्रमुख एशियाई / प्रशांत मुद्राओं में से एक है। ऑस्ट्रेलियाई और न्यूज़ीलैंड के व्यापारिक सत्रों के दौरान ऑस्ट्रेलियाई डॉलर में अस्थिरता बढ़ जाती है। न्यूज़ीलैंड की राष्ट्रीय मुद्रा (NZD) के साथ मज़बूती से जुड़ा हुआ है।

ओवरबॉट ज़ोन या अधिक ख़रीदारी क्षेत्र

ऑस्किलेटर प्रकार संकेतकों का एक क्षेत्र जहां परिसंपत्ति ओवरवैल्यूड मानी जाती है। अर्थात् इसकी क़ीमत अब इसकी वैल्यू से ज़्यादा है, जिसका अर्थ है कि क़ीमत जल्द ही गिरेगी।

ओवरसोल्ड ज़ोन या अधिक बिक्री क्षेत्र

ऑस्किलेटर प्रकार संकेतकों का एक क्षेत्र जहां परिसंपत्ति अंडरवैल्यूड मानी जाती है। अर्थात् इसकी क़ीमत अब इसकी वैल्यू से कम है, जिसका अर्थ है कि क़ीमत जल्द ही बढ़ेगी।

कमोडिटीज़

कच्चे माल (धातु, ऊर्जा) के संदर्भ में सामग्री का वर्गीकरण। कमॉडिटीज़ को कमॉडिटीज़ बाज़ार में ख़रीदा और बेचा जाता है और ट्रेडिंग का उद्देश्य उनके मूल्य में परिवर्तन है।

करेक्शन

सामान्य रुझान दिशा की विपरीत दिशा में ट्रेडिंग एसेट के मूल्य का अल्प समय के लिए पीछे आ जाना।

कैंडलस्टिक या मोमबत्ती

यह एक प्रकार का मूल्य चार्ट है जो मोमबत्तियों की एक पंक्ति जैसा दिखता है, जहां एक मोमबत्ती के ऊपरी और निचले हिस्से मूल्य के खुलने और बंद होने का संकेत देते हैं, जबकि मोमबत्ती के समय अंतराल के दौरान ऊपरी और निचली छाया उच्चतम और निम्नतम मूल्यों का संकेत देते हैं। अगर समापन मूल्य प्रारंभिक मूल्य से कम है, तो इस पैटर्न को घटती (मंदी या बियरिश) मोमबत्ती कहा जाता है। अगर समापन मूल्य प्रारंभिक मूल्य से ऊपर है, तो इस पैटर्न को बढ़ती (तेज़ी या बुलिश) मोमबत्ती कहा जाता है। कैंडलस्टिक पैटर्न अक़्सर चार्ट या तकनीकी बाज़ार विश्लेषण में उपयोग किए जाते हैं।

कैनेडियन डॉलर

कनाडा की आधिकारिक मुद्रा ("लूनी"; कोड: CAD)। कनाडाई डॉलर विदेशी मुद्रा बाज़ार में शीर्ष दस विश्व मुद्राओं में से एक है।

कोटेशन

एक निश्चित समय पर एक एसेट मूल्य की संख्यात्मक वैल्यू। वित्तीय बाज़ार में, एक कोटेशन वह मूल्य होती है जो ट्रेड ख़रीदने और बेचने के लिए उपलब्ध होती है (ट्रेडिंग के लिए यह वृद्धि या गिरावट पर ट्रेडों के समापन के लिए है)। स्टॉक एक्सचेंज में, एक कोटेशन वह मूल्य होती है जिस पर कंपनी का अंतिम शेयर बेचा जाता है।

खुली स्थिति या ओपन पोज़िशन

बाज़ार लेनदेन जो अपनी समाप्ति समय तक नहीं पहुंचा है। एक खुला लेनदेन किसी ट्रेडर से प्राप्त संसाधित ट्रेडिंग ऑर्डर है और जो ब्रोकर के सर्वर पर दर्ज किया गया था।

जापानी येन

जापान की आधिकारिक मुद्रा और विदेशी मुद्रा बाज़ार में सबसे लोकप्रिय मुद्राओं में से एक। अमेरिकी डॉलर, यूरो, ब्रिटिश पाउंड, आदि के साथ येन को आई.एम.एफ़. की विश्व मुद्रा बास्केट में शामिल किया गया है। जापानी मुद्रा में एशियाई ट्रेडिंग सत्र के दौरान अस्थिरता बढ़ जाती है।

जीडीपी

किसी देश द्वारा निर्धारित समय के भीतर उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं का मूल्य। इस संकेतक में वृद्धि आर्थिक विकास को दर्शाती है।

जोखिम

जब कोई ट्रेडर गलत ट्रेडिंग निर्णय लेता है, तो वित्तीय नुक़सान की संभावना। दूसरे शब्दों में, यह ट्रेडर के धन का वह हिस्सा है जो लेनदेन विफल होने पर वह खो सकता है।

जोड़ियां या पेयर्स

एक कृत्रिम रूप से बनाई गई परिसंपत्ति जिसमें एक परिसंपत्ति का कोटेशन दूसरी परिसंपत्ति से संबंधित होता है। एसेट जोड़ियां मुद्रा जोड़ियों से मिलती जुलती हैं।

टाइम फ़्रेम या समय अवधि

समय अवधि)समय की वह अवधि, जिसके दौरान एक कैंडलस्टिक या बार बनता है, या समय की वह अवधि, जिसके दौरान एक रेखीय चार्ट (लाइन, माउंटेन) पर एक बिंदु प्रदर्शित करने के लिए एक औसत मूल्य लिया जाता है। समय सीमा जितनी बड़ी होगी, मूल्य गतिशीलता के वैश्विक रुझान उतने ही ज़्यादा दिखेंगे। समय सीमा जितनी छोटी होगी, उतने ही स्थानीय रुझान ज़्यादा दिखेंगे।

टाई

ऐसी स्थिति जब समाप्ति के समय लेनदेन का निकास स्तर एसेट के प्रवेश मूल्य के साथ मेल खाता है। इस मामले में, ब्रोकर ट्रेडर को पूर्ण लेनदेन राशि लौटाता है।

टूर्नामेंट या प्रतियोगिता

मौद्रिक पुरस्कार राशि के साथ मंच पर एक समय सीमित प्रतियोगिता। यह प्रतियोगिता एक विशेष टूर्नामेंट खाते में होती है और टूर्नामेंट में ट्रेडों को वर्चुअल करेंसी (₮) का उपयोग करके पूरा किया जाता है। प्रतियोगिता की शुरुआत में सभी प्रतिभागियों के पास एक ही टूर्नामेंट बैलेंस होता है। प्रतिभागियों का मुख्य कार्य टूर्नामेंट के अंत तक सबसे ज़्यादा टूर्नामेंट बैलेंस हासिल करना है। पुरस्कार राशि पुरस्कार स्थान पाने वाले विजेताओं के बीच वितरित की जाती है।

ट्रेंड या रुझान

परिसंपत्ति मूल्य गतिशीलता की दिशा। रुझान के दो प्रकार हैं: आरोही रुझान (अपट्रेंड, तेज़ी या बुलिश बाज़ार) और अवरोही रुझान (डाउनट्रेंड, मंदी या बियरिश बाज़ार)। बाज़ार में स्पष्ट रुझान की कमी को "एक फ़्लैट" (एक स्थिति जब कोटेशन एक संकीर्ण सीमा के भीतर समेकित रहते हैं) कहा जाता है। ट्रेडिंग के लिए रुझानों की जानकारी बहुत महत्वपूर्ण होती है।

ट्रेंडलेस मार्केट

एक बाज़ार जो कोई स्पष्ट चढ़ता या गिरता रुझान नहीं दिखाता है। एक ट्रेंडलेस मार्केट या रुझान हीन बाज़ार आमतौर पर प्रशांत सत्र के दौरान या प्रमुख मैक्रोइकॉनॉमिक समाचार जारी होने पर देखा जा सकता है।

ट्रेडर

एक व्यक्ति जो वित्तीय बाज़ार में पूर्वानुमान करता है, यानी लाभ के लिए ब्रोकरेज फ़र्म के माध्यम से ट्रेडिंग कार्य करता है।

ट्रेडिंग घंटे

स्पष्ट रूप से परिभाषित समय सीमा जिसके भीतर विभिन्न देशों में ट्रेडिंग सत्र आयोजित किए जाते हैं। सप्ताहांत या सार्वजनिक छुट्टियों पर कोई ट्रेडिंग नहीं होती है।

ट्रेडिंग टर्नओवर

सभी पूरे किए गए ट्रेडों की कुल संख्या। ट्रेडों के परिणामों की परवाह किए बिना इसकी गणना की जाती है।

ट्रेडिंग रणनीति

मूल्य गतिशीलता और मुनाफ़ा कमाने के पूर्वानुमान को सुविधाजनक बनाने के लिए टूल्स (इंडिकेटर्स, रेखाएं आदि) के उपयोग के लिए संबंधित सख़्त नियमों का एक सेट।

डेरिवेटिव

किसी मूल्य के साथ एक डेरिवेटव एसेट जो अंतर्निहित एसेट की क़ीमत में परिवर्तन पर निर्भर करती है। डेरिवेटव एसेट्स की ट्रेडिंग करते समय, आप एसेट नहीं ख़रीदते हैं: लेनदेन उसके भविष्य में वृद्धि या गिरावट पर आधारित होता है। आम तौर पर, खुली पोज़िशन्स की हेजिंग के लिए डेरिवेटिव का उपयोग किया जाता है; लेकिन, डेरिवेटिव ट्रेडिंग ने शेयर या कमोडिटी मार्केट के अलावा अन्य लेनदेनों के लिए भी लोकप्रियता हासिल कर ली है।

डोजी

जापानी कैंडलस्टिक की भिन्नता जिसका कोई शरीर नहीं है: खुलने वाला मूल्य समापन मूल्य के बराबर होता है। मोमबत्तियां एक क्रॉस बनाती हैं जो एक विशेष समय अंतराल में आपूर्ति और मांग के बीच संतुलन का संकेत देता है।

तकनीकी विश्लेषण

यह परिसंपत्ति की गतिशीलता का विश्लेषण करने के लिए एक व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली विधि है। तकनीकी विश्लेषण में, ऐतिहासिक कोटेशन वैल्यूज़ का उपयोग भविष्य के सबसे संभावित कोटेशन वैल्यूज़ को निर्धारित करने के लिए किया जाता है।

धन प्रबंधन

यह संपत्ति प्रबंधन है। आम शब्दों में, यह जोखिम प्रबंधन के समान है और इसका मतलब है कि लेनदेन करते समय खाते में उपस्थित निधि का प्रबंधन करना।

निवेश

लाभ कमाने के लिए किया गया दीर्घकालिक निवेश। निवेश के उद्देश्य के आधार पर, निवेश को वास्तविक और वित्तीय में विभाजित किया जाता है।

नीचे या DOWN ट्रेड

इस पूर्वानुमान के साथ ट्रेड कि एसेट की क़ीमत नीचे जाएगी और ट्रेड समाप्ति के समय का मूल्य ट्रेड खुलने के समय के मूल्य से कम होगा।

न्यूज़ीलैंड डॉलर

न्यूज़ीलैंड की आधिकारिक मुद्रा और विदेशी मुद्रा बाज़ार में सबसे लोकप्रिय मुद्राओं में से एक। NZD जापानी मुद्रा, अमेरिकी डॉलर, यूरो, ब्रिटिश पाउंड, आदि के साथ IMF की विश्व मुद्रा बास्केट में शामिल एक प्रशांत मुद्रा है। NZD प्रशांत ट्रेडिंग सत्र के दौरान ज़्यादा अस्थिर रहता है।

प्रतिरोध या रेज़िस्टेंस

वह मूल्य स्तर जिसके ऊपर एसेट क़ीमतों की बढ़ने की उम्मीद नहीं है। आमतौर पर, प्रतिरोध स्तर तक पहुंचने पर, परिसंपत्ति की क़ीमत रीबाउंड करती है और मूल्य नीचे की ओर गिरने लगते हैं। प्रतिरोध स्तर तकनीकी विश्लेषण में महत्वपूर्ण हैं।

फ़ॉरेक्स या विदेशी मुद्रा

एक ओवर-द-काउंटर (OTC) बाज़ार जो विदेशी मुद्रा लेनदेन के संचालन के लिए स्थापित किया गया था। विदेशी मुद्रा लेनदेन मुद्रा जोड़ियों के कोटेशन चार्ट पर किए जाते हैं। जब फ़ॉरेक्स पर कोई ट्रेड पूरा किया जाता है, तो एक व्यक्ति जोड़ी की एक मुद्रा ख़रीदता है जबकि दूसरा व्यक्ति दूसरी मुद्रा को बेचता है।

फ़्लैट

लंबी अवधि तक ऊपर या नीचे की दिशा में मूल्य की स्पष्ट गतिशीलता की अनुपस्थिति। एक स्पष्ट क्षैतिज गलियारे में चार्ट का लेटरल मूवमेंट।

फ़्लैट मार्केट

एक रुझान हीन बाज़ार जो क्षैतिज रूप से चलता है और बिना किसी स्पष्ट अपट्रेंड या डाउनट्रेंड के कमज़ोर मूल्य परिवर्तन दिखाता है।

बियर्स

ट्रेडर्स जो एसेट प्राइस की गिरावट पर दांव लगाते हैं। बियर्स को गिरते रुझान की उम्मीद होती है और वे ज़्यादातर शॉर्ट पोज़िशन्स खोलते हैं। जब कोटेशन एक स्पष्ट गिरावट दिखाते हैं, तो बाज़ार को "मंदी" या "बियर्स" बाज़ार कहा जाता है। बियर्स के विपरीत बुल्स हैं, जो एसेट में वृद्धि पर बिड करते हैं। यह आपूर्ति और मांग पैदा करता है, जो कोटेशन के उतार-चढ़ाव के लिए ज़िम्मेदार होता है।

बुनियादी विश्लेषण

यह बाज़ार विश्लेषण है जो उन सभी व्यापक आर्थिक (मैक्रोइकोनॉमिक) संकेतकों को ध्यान में रखता है जो कोटेशन की गतिशीलता को प्रभावित कर सकते हैं। बुनियादी विश्लेषण को तकनीकी कोटेशन संकेतकों को ध्यान में रखे बिना किया जाता है। इस प्रकार के विश्लेषण का उपयोग अक़्सर समाचार पर ट्रेडिंग के लिए किया जाता है।

बुल्स

बाज़ार निवेशक जो मूल्य वृद्धि पर दांव लगाते हैं। बुल्स वित्तीय परिसंपत्तियों की लागत में वृद्धि पर ट्रेडों का समापन करके कमाई करते हैं। स्पष्ट अपट्रेंड वाले बढ़ते बाज़ार को "तेज़ी" या "बुल" बाज़ार कहा जाता है। बुल्स के विपरीत बीयर्स होते हैं, जो मूल्य में कमी पर बोली लगाते हैं। यह आपूर्ति और मांग पैदा करता है, जो कोटेशन के उतार-चढ़ाव के लिए ज़िम्मेदार होता है।

बोलिंगर बैंड

सबसे लोकप्रिय तकनीकी संकेतकों में से एक, यह स्थानीय मूल्य स्तरों के संबंध में ट्रेडिंग परिसंपत्ति की अस्थिरता को निर्धारित करता है। बोलिंगर बैंड संकेतक एक मूविंग एवरेज (चलती औसत) के संबंध में दो मानक कोटेशन विचलन की गणना करता है। इस इंडिकेटर का उपयोग आम तौर पर कमज़ोर रुझानों वाले बाज़ारों में ट्रेडिंग के लिए किया जाता है, जो कोटेशन रिवर्सल के क्षणों को परिभाषित करना संभव बनाता है।

ब्रिटिश पाउंड

यूनाइटेड किंगडम की आधिकारिक मुद्रा और अमेरिकी डॉलर और यूरो के बाद तीसरा सबसे व्यापक रूप से आरक्षित मुद्रा।

ब्रोकर

एक व्यक्ति या संगठन जो बाज़ार में ख़रीदने और बेचने के ऑर्डर प्राप्त करता है और संचालित करता है। ब्रोकर अपनी सेवाओं के लिए शुल्क या कमीशन लेते हैं।

ब्लु चिप

प्रसिद्ध (सबसे बड़ी) कंपनियों के शेयर जो स्थिर लाभांश भुगतान और अच्छे वित्तीय और आर्थिक प्रदर्शन संकेतकों द्वारा पहचाने जाते हैं।

मुद्रा

किसी देश में धन की आधिकारिक इकाई जो फ़ॉरन एक्सचेंज में लागत इकाई के रूप में कार्य करती है। दुनिया के लगभग सभी देशों की अपनी-अपनी मुद्राएँ हैं। यूरोपीय संघ की एकल यूरोपीय मुद्रा एक अपवाद है - यूरो (प्रतीक और कोड: €, EUR)। फ़ॉरेक्स बाज़ार सबसे बड़ा वैश्विक बाज़ार है जहां विदेशी मुद्रा लेनदेन किया जाता है।

मुद्रा जोड़ी

एक मुद्रा का दूसरी मुद्रा में व्यक्त सापेक्ष मूल्य। दूसरे शब्दों में, हम किसी राष्ट्रीय मुद्रा की तुलना अन्य मुद्रा के मूल्य से करके उसके मूल्य का पता लगा सकते हैं। सभी मुद्रा जोड़ियां पूर्वनिर्धारित संयोजनों में व्यक्त की जा सकती हैं: EUR/SGD, UAD/CHF, GBP/CHF, USD/JPY, आदि। विदेशी मुद्रा बाज़ार में किसी भी लेनदेन में एक मुद्रा ख़रीदना और दूसरे को बेचना शामिल है। इस प्रकार मुद्रा जोड़ियों के कोटेशन बनते हैं (जो ट्रेडिंग के आधार के रूप में कार्य करते हैं)।

मुद्रास्फ़ीति या महंगाई

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में प्रतिशत परिवर्तन। यह देश की आर्थिक क्षमता के मुख्य संकेतकों में से एक है। आर्थिक रूप से विकसित देशों में, मुद्रास्फ़ीति को केंद्रीय बैंक द्वारा निर्धारित ब्याज दर में समायोजन के माध्यम से नियंत्रित किया जाता है। महंगाई बढ़ने पर ब्याज दर बढ़ती है और तदनुसार, महंगाई दर गिरने पर गिरती है।

मूल्य चैनल

एक चैनल जिसकी सीमाएं होती हैं (समर्थन और प्रतिरोध स्तरों द्वारा निर्धारित), जिसके भीतर कोटेशन चलते हैं। दो प्रकार के चैनल होते हैं: ट्रेंड चैनल और साइडवे चैनल। तकनीकी विश्लेषण में, मूल्य या प्राइस चैनल का उपयोग रुझान के समर्थन और प्रतिरोध स्तरों को परिभाषित करने के लिए किया जाता है।

यील्ड पर्सन्टेज या रिटर्न प्रतिशत

चयनित एसेट में निवेश से एक सफल ट्रेड की स्थिति में प्राप्त की गई लाभ की राशि।

यूरो

यूरोपीय संघ की आधिकारिक मुद्रा (प्रतीक और कोड: €, EUR)। यूरो एक विश्व मुद्रा (अमेरिकी डॉलर के बाद दूसरे नंबर पर) है, जिसका उपयोग अक़्सर विदेशी मुद्रा भंडार बनाने के लिए किया जाता है। यही कारण है कि EUR/USD विदेशी मुद्रा बाज़ार में सबसे ज़्यादा लिक्विड मुद्रा जोड़ी है।

रिवर्सल या उलटाव

मूल्य रुझान की दिशा में बदलाव: वृद्धि से गिरावट तक और इसके विपरीत।

रुझान रेखा या ट्रेंड लाइन

यह एक विज़ुअलाइज़्ड प्राइस मूवमेंट ट्रेंड है, जिसे आमतौर पर कोटेशन के सबसे कम मूल्यों को जोड़ने वाली रेखा के रूप में दिखाया जाता है। तकनीकी विश्लेषण के लिए अक़्सर ट्रेंड लाइन का उपयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि जब मूल्य ट्रेंड लाइन को तोड़कर निकल जाता है, तो यह रुझान परिवर्तन का संकेत देता है, अर्थात् एक नए विपरीत रुझान की शुरुआत होती है।

रैली

गहन परिसंपत्ति मूल्य बदलाव जो प्रमुख आर्थिक समाचार जारी होने पर देखा जाता है। गहन बाज़ार वृद्धि के दौरान तेज़ मूल्य परिवर्तन को बुलिश रैली (और बाज़ार गिरावट के दौरान मंदी या बियरिश रैली) कहा जाता है।

लाभांश या डिविडेंड

जारीकर्ता (शेयर जारी करने वाली कंपनी) के कुल लाभ के हिस्से की मौद्रिक अभिव्यक्ति जो कंपनी के शेयरधारकों के बीच वितरित की जाती है। शेयरों के भुगतान के तरीक़े और भुगतान किए गए लाभांश की राशि का निर्धारण कंपनी की शेयरधारक बैठकों में किया जाता है। कंपनी की प्रतिभूतियों या सिक्योरिटीज़ के रूप में किए गए भुगतान लाभांश को स्टॉक डिविडेंड कहा जाता है।

लिक्विडिटी

वित्तीय परिसंपत्ति को बेचने या ख़रीदने की संभावना जब इसका मूल्य न्यूनतम परिवर्तन दिखाता है। क़ीमत के तेज़ उतार-चढ़ाव के दौरान लिक्विडिटी हमेशा घट जाती है। लिक्विडिटी स्तर जितनी ज़्यादा होगी, निवेशकों और ट्रे़डर्स को उतने ज़्यादा मौक़े मिलेंगे। जब बड़ी संख्या में लोग एक ही समय में एक ही वित्तीय परिसंपत्ति को बेच या ख़रीद रहे होते हैं, तो लिक्विडिटी को बड़े उतार-चढ़ाव की भरपाई के लिए बाज़ार की क्षमता माना जा सकता है। मुद्रा बाज़ार में सबसे ज़्यादा लिक्विडिटी रहती है। शेयर बाज़ार में सबसे कम लिक्विडिटी रहती है, जो प्रमुख आर्थिक घटनाओं के दौरान क़ीमतों में तेज़ बढ़ोतरी की वजह है।

लेवरेज

बाज़ार में लेनदेन में प्रवेश करते समय ट्रे़डर के अपने धन का अनुपात। लेवरेज आमतौर पर स्टॉक और मुद्रा बाज़ार में ब्रोकरेज कंपनियां प्रदान करती हैं।

लॉन्ग

लॉन्ग पोज़िशन को खोलना जब कोई ट्रेडर किसी परिसंपत्ति की बढ़ोतरी पर उसे ख़रीदता है या बिड करता है। यह शब्द आमतौर पर शेयर बाज़ार के संदर्भ में उपयोग किया जाता है क्योंकि आमतौर पर यह माना जाता है कि कंपनी के शेयर घटने से ज़्यादा बढ़ने में समय बिताते हैं।

लॉन्ग-टर्म ट्रेड

लंबी समाप्ति अवधि वाला ट्रेड।

लॉन्ग पोज़िशन

किसी एसेट को इस उम्मीद के साथ ख़रीदने का लेनदेन कि उसके मूल्य में वृद्धि होगी।

वर्तमान मूल्य या करेंट प्राइस

वास्तविक समय में कोटेशन चार्ट पर दिखाई देने वाला ट्रेडिड एसेट की क़ीमत (चार्ट वर्तमान मूल्य में परिवर्तन पर आधारित होते हैं)। ब्रोकरों को इंटरबैंक सर्वर से वर्तमान मूल्य मिलते हैं।

विचलन या डाइवरजेंस

इंडिकेटर डेटा और मूल्य गतिशीलता के बीच अंतर। आमतौर पर, विचलन ट्रेडिंग परिसंपत्ति के मूल्य में पर्याप्त परिवर्तन से पहले होता है।

शेयर

एक कंपनी की पूंजी की सबसे छोटी इकाई जो अपने मालिक को लाभांश या डिविडेंड (कंपनी के लाभ में एक हिस्सा) प्राप्त करने का अधिकार देती है। शेयरधारकों को कंपनी प्रबंधन पर वोट देने और कंपनी द्वारा शेयरधारकों के बीच लाभ वितरित किए जाने पर लाभांश प्राप्त करने का अधिकार होता है। प्रीफ़रेंस शेयरों के मालिक कंपनी प्रबंधन में भाग नहीं लेते हैं, फिर भी कंपनी की वित्तीय स्थिति चाहे कुछ भी हो, वे लाभांश प्राप्त करते हैं। कंपनियों के शेयर (स्टॉक) शेयर बाज़ार में ख़रीदे और बेचे जाते हैं। अधिकांश पोर्टफ़ोलियोज़ में शेयरों को अक़्सर निवेश के रूप में इसलिए शामिल किया जाता है क्योंकि ये स्थिर आय देते हैं। कंपनी के शेयर जारीकर्ता के वित्तीय प्रदर्शन और/या शेयर बाज़ार की भावना में बदलाव के कारण क़ीमत में बदलाव हो सकते हैं, जिसके कारण शेयर के मूल्यों पर अटकलें लगाई जा सकती हैं। अन्य एसेट्स की तुलना में शेयरों में अधिक लाभ होता है। बिनोमो ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म पर, शेयरों का काग़ज़ी अधिग्रहण नहीं किया जाता है: लेनदेन मूल्य वृद्धि या घटने पर आधारित होते हैं।

शॉर्ट

एक शॉर्ट पोज़ीशन खोलना जब कोई ट्रेडर किसी एसेट को बेचता है या एसेट की गिरावट पर बिड करता है। यह शब्द आमतौर पर शेयर बाज़ार के संदर्भ में उपयोग किया जाता है क्योंकि आमतौर पर यह माना जाता है कि किसी कंपनी के शेयर बढ़ने की तुलना में गिरने में कम समय बिताते हैं।

शॉर्ट पोज़िशन

किसी एसेट को इस उम्मीद के साथ बेचना कि उसका मूल्य गिर जाएगा।

संकेतक या इंडिकेटर

मूल्य गतिशीलता के रुझान का एक विज़ुअल चार्ट। चार्ट पर भविष्य की मूल्य गतिशीलता के पूर्वानुमान को आसान और सरल बनाने के लिए विभिन्न संकेतकों का उपयोग किया जाता है।

सपोर्ट या समर्थन

वह मूल्य स्तर जिसके नीचे परिसंपत्ति की क़ीमत गिरने की उम्मीद नहीं होती है। इस तरह के स्तर कोटेशन चार्टों पर ट्रेडर ऑर्डर्स की उच्चतम संख्या वाले स्थानों में दिखाई देते हैं और तकनीकी विश्लेषण के लिए उपयोग किए जाते हैं। हम अक़्सर इन स्तरों पर मूल्य समेकन देख सकते हैं।

समाप्ति समय या एक्सपायरेशन टाइम

डेरिवेटिव बाज़ार में ट्रेडिंग करते समय लेनदेन की समाप्ति की पूर्वनिर्धारित अवधि। ट्रेडिंग करते समय, समाप्ति समय वह क्षण होता है जब एक खुले ट्रेड के लिए ट्रेड परिणाम तय होता है।

समेकन

किसी स्पष्ट रुझान दिशा के बिना मूल्य गतिशीलता जब परिसंपत्ति क़ीमत एक संकीर्ण रेंज में सीमित रहती है। इस प्रकार की गतिशीलता को अक़्सर "फ़्लैट मूवमेंट" या "फ़्लैट" कहा जाता है। जब रेंज सीमाओं में से एक को मूल्य तोड़ता है, तो समेकन या कंसॉल्डिशेन समाप्त हो जाता है।

स्कैलपिंग

छोटे मूल्य परिवर्तनों पर कई मुनाफ़े कमाने के लिए अल्पकालिक लेनदेन के समापन के लिए उपयोग की जाने वाली एक ट्रेडिंग रणनीति। इस रणनीति को लागू करने वाले ट्रेडर्स को "स्केलपर्स" कहा जाता है।

स्टॉक इंडेक्स

शेयरों के चुनिंदा समूह का मूल्य-भारित औसत। उदाहरण के लिए, डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज में संयुक्त राज्य की 30 सबसे बड़ी और सबसे प्रसिद्ध कंपनियों और उद्यमों के शेयर शामिल हैं। डॉव जोन्स इनके शेयरों के मूल्य-भारित औसत को दर्शाता है।

स्पेकुलेशन या अटकलें

परिसंपत्ति क़ीमतों में परिवर्तन पर लक्षित लेनदेन, अर्थात् उन परिसंपत्तियों में वृद्धि पर बिड किया जाता है जो बाज़ार में अंडरवैल्यूड हैं (और ओवरवैल्यूड परिसंपत्तियों की गिरावट पर बिड करना)। जो ट्रेडर्स उपर्युक्त लेनदेन में संलग्न होते हैं उन्हें स्पेक्युलेटर्स कहा जाता है।

स्पॉट

किसी एसेट की मौजूदा क़ीमत, और एक ऐसा लेनदेन जो तुरंत सेटल किया जाता है। यह शब्द "वायदा" या "फ़्यूचर्स" का विपरीत है।

स्विस फ़्रैंक

स्विटज़रलैंड की आधिकारिक मुद्रा। दुनिया में सबसे विश्वसनीय और स्थिर मुद्राओं में से एक है जो आई.एम.एफ़. की विश्व मुद्रा बास्केट में शामिल है।

हॉरिज़ॉन्टल मार्केट या क्षैतिज बाज़ार

एक ट्रेंडलेस मार्केट। प्रशांत सत्र के दौरान और प्रमुख आर्थिक समाचार जारी होने से पहले इस प्रकार की बाज़ार गतिशीलता रात में देखी जा सकती है।

अं
अः
क्ष
त्र
ज्ञ