ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग के बारे में सब कुछ जो आपको पता होना चाहिए

आजकल, शेयर और इक्विटी ट्रेडिंग पूरी दुनिया में तेजी से लोकप्रिय हो गई हैं – विशेष रूप से आसान तरीके के रूप में जिसमें व्यक्ति निवेश कर सकते हैं। आजकल लोग उत्सुकता से भारत में ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे करें सीख रहे हैं, जिससे 2020 में हर महीने लगभग 400,000 निवेशक खाते जुड़ रहे हैं। लेकिन सफल होने के लिए, आपको अपने आप रिसर्च करने की आवश्यकता है।

शेयर ट्रेडिंग क्या है?

जब आपके पास एक शेयर बिज़नस होता है जो ट्रेडिंग पर चलता है, तो आप स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कंपनी के शेयरों की खरीद और बिक्री करते हैं। ब्रोकर की आवश्यकता के बिना, लोग आमतौर पर इस प्रक्रिया में शामिल होने के लिए शेयर ट्रेडिंग सेंटर का उपयोग करते हैं।

ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग निवेश से अलग है, क्योंकि बाद वाले के विपरीत, आप शेयर नहीं रखते हैं। इसके बजाय, आप उन्हें उसी ट्रेडिंग दिनों में बेचें तांकि आप अतिरिक्त आय अर्जित कर सकें। शेयर ट्रेडिंग को ट्रेडिंग घंटों के भीतर किया जाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से विफल होने पर नुकसान हो सकता है।

आप जिस मर्जी तरीके से निवेश करते हैं फिर भी आपको एक सर्टेन शेयर ट्रेडिंग टाइम का ध्यान करने की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, यदि आप किसी दूसरे देश से भारत के शेयर बाजार में ट्रेड करना सीख रहे हैं, तो ट्रेड भारतीय ट्रेडिंग समय में किया जाएगा। आपको उनके  शेयर ट्रेडिंग टाइम से खुद को वाकिफ़ करना होगा तांकि आप ओपन पोजीशन न खोएं।

शेयर की कीमतें कैसे तय होती हैं?

किसी विशेष शेयर की अस्थिर कीमतों के कारण शेयर ट्रेडिंग के माध्यम से अतिरिक्त आय बनाई जाती है। कीमतें आपूर्ति और मांग से तय होती हैं। उदाहरण के लिए, यदि किसी व्यवसाय से भविष्य में अधिक कमाई की उम्मीद की जाती है, तो इन अपेक्षाओं से अधिक लोग इसके शेयर खरीदने और निवेश करने वाली भीड़ में शामिल हो सकते हैं। इससे कीमतें बढ़ सकती हैं, जिससे मौजूदा शेयरधारकों की पोटेंशियल आय में वृद्धि हो सकती है।

इसी तरह, किसी कंपनी के भविष्य के नकारात्मक होने से लोग उसके शेयर खरीदने के लिए इच्छुक नहीं होते है। क्यूंकि कम शेयर बेचे और खरीदे जाएंगे, कीमतें भी कम होंगी। इससे शेयरों से अतिरिक्त आय प्राप्त करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है, क्योंकि ट्रेडर खरीद मूल्य पर बेचने और बेहतर पोजीशन लेने में सक्षम नहीं होगा।

आप ट्रेडिंग कैसे शुरू कर सकते हैं?

ट्रेडिंग शुरू करने के लिए, आपको सबसे पहले एक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर एक ट्रेडिंग खाता खोलना होगा। जो लोग भारत में शेयर ट्रेडिंग कैसे करें सीख रहे हैं, उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि जिस प्लेटफॉर्म का वे उपयोग करते हैं वह भारतीय कंपनियों के ट्रेडों को स्वीकार करता है। ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर खाता स्थापित करने के लिए, आपको पहचान के प्रमाण या लिंक किए गए बैंक कार्ड जैसी जानकारी प्रदान करने की आवश्यकता होती है।

ट्रेडिंग में शुरुआती लोगों को शुरुआत में डेमो अकाउंट से ट्रेड करने की सलाह दी जाती है। इन खातों में आमतौर पर डेमो फंड होंगे जिनका उपयोग आप अभ्यास के लिए कर सकते हैं। इस तरह, आप सीखेंगे कि अपने रियल फंड्स को जोखिम में डाले बिना, एक विशिष्ट समय के लिए ट्रेड कैसे करें।

ट्रेडर्स जो केवल शुरुआत कर रहे हैं, वे मिरर ट्रेडिंग का उपयोग करने पर भी विचार कर सकते हैं। मिरर ट्रेडिंग के साथ, आप किसी अन्य निवेशक की चाल को तब तक कॉपी कर सकते हैं जब तक कि आप खुद बाजार में ट्रेड करना नहीं सीख जाते। ट्रेडों को लगभग उसी समय पर किया जाएगा, जिसमें ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग सेंटर विशिष्ट अनुभवी ट्रेडर्स का अनुसरण करने की सलाह देता है।

ट्रेडिंग अकाउंट में फंड कैसे डालें 

एक बार खाता बन जाने और डेमो अवधि समाप्त हो जाने के बाद, अपने खाते में धनराशि जोड़ने और वास्तविक ट्रेडिंग प्रक्रिया में भाग लेने का समय आता है। ट्रेडर्स को निम्नलिखित चरणों से गुजरना होगा:

  1. नए बनाए गए खाते में अपनी लॉगिन जानकारी, जैसे अपना उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करें। कौनसी जानकारी डालनी है यह मुख्य रूप से इस्तेमाल किए गए ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर निर्भर करेगी।
  2. जिस प्लेटफॉर्म का आप उपयोग कर रहें हैं उसके “फंड ट्रांसफर” सेक्शन या समकक्ष पर जाएं। उस बैंक खाते का चयन करें जिसे आपने शुरू में अपना खाता बनाते समय जोड़ा था।
  3. जितनी राशि आप अपने बैंक कार्ड से ट्रांसफर करना चाहते उसको भरे। अधिकांश प्लेटफ़ॉर्म आपको अपने कार्ड में धनराशि वापस ट्रांसफर करने की आप्शन देते हैं, चाहे आपको अतिरिक्त आय प्राप्त हुई हो या बस आपने विचार बदल लिया हो।
  4. कंपनी वॉचलिस्ट बनाएं। इस तरह, आप राशि पर नज़र रख सकते हैं ताकि आप जब चाहें शेयर खरीद सकें।

प्लेटफ़ॉर्म की मुद्रा के साथ मेल खाने वाले बैंक कार्ड होना ज़रूरी है। उदाहरण के लिए, यदि प्लेटफ़ॉर्म मुख्य रूप से भारतीय रुपये के साथ काम करता है, तो आपके द्वारा लिंक किया गया बैंक खाता इस मुद्रा के साथ काम करना चाहिए।

आधार – रेखा

शेयर ट्रेडिंग आपके घर में अतिरिक्त आय लाने में मदद कर सकती है, लेकिन ध्यान रखें कि हमेशा छोटे ट्रेडों से शुरुआत करने की सलाह दी जाती है। अन्यथा, आप अपने फंड्स को जोखिम में डाल सकते हैं। जब आप ट्रेडिंग में बेहतर हो जाते हैं, तो आप अधिक साहसी रणनीतियां आजमा सकते हैं – लेकिन फिर भी, आपको सावधान रहना चाहिए।

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
5 मिनट
शेयर को ऑनलाइन कैसे खरीदें
4 मिनट
शेयर बाजार में हेजिंग क्या है?
8 मिनट
वैश्विक बाजार के रुझान हमारी व्यक्तिगत धन प्रबंधन रणनीतियों को कैसे प्रभावित करते हैं। और हमें क्या करना चाहिए?
5 मिनट
घर से ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे शुरू करें
5 मिनट
कब बाहर निकल जाएं: आपके ट्रेडिंग घाटे को कम करने के लिए टिप्स
4 मिनट
स्टॉक एक्सचेंज पर शेयर कैसे खरीदें