शेयर बाजार में निवेश के बारे में कैसे जानें

यह कोई रहस्य नहीं है कि शेयरों में निवेश एक लोकप्रिय गतिविधि है। बस ध्यान रखें कि याहू फाइनेंस के अनुसार, Google (अब अल्फाबेट) के शेयरों की कीमत 17 वर्षों के भीतर 60 गुना बढ़ी: 8/19/2004 को ~$50 से 11/18/2021 को $2,996.77 हो गई। कुछ लोग निवेश को भाग्य की बात मानते हैं, लेकिन यह एक गंभीर गतिविधि है। और किसी भी गतिविधि की तरह, इसके लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है।

अगर आपको स्टॉक्स की जानकारी नहीं है तो कहां से शुरू करें

किसी भी व्यवसाय की तरह, आपको सबसे पहले शेयर बाजार के बुनियादी कॉन्सेप्ट्स को सीखना होगा। यह आपको निवेशकों के लिए विशेष साहित्य को समझने में मदद करेगा।

उसके बाद, आप शेयर बाजार को प्रभावित करने वाले कारकों का अध्ययन करने के लिए आगे बढ़ सकते हैं। उदाहरण के लिए, कृषि स्टॉक में निवेश करने के लिए, आपको फ़ूड बाजार और  ट्रांसपोर्टेशन लोजिस्टिक के बारे में जानने की जरूरत है। रिसॉर्ट कंपनियों के शेयरों में आमतौर पर गर्मियों में बढ़ोतरी होती है, जबकि सर्दियों में गैस आपूर्तिकर्ताओं के शेयरों में बढ़ोतरी होती है। फिर, इतिहास की ओर मुड़ें और देखें कि कुछ घटनाएं शेयरों के मूल्य को कैसे प्रभावित करती हैं।

आर्थिक संकट के दौरान पूरा शेयर बाजार विफल हो जाता है। हालांकि, फ़ूड और कम्युनल कंपनियां अपेक्षाकृत अच्छा प्रदर्शन करती हैं।

उन कंपनियों में निवेश करें जो आपको रोचक लगती हैं

उन कंपनियों के शेयरों में निवेश करना शुरू करें जो अर्थव्यवस्था के उस क्षेत्र में काम करती हैं जो आपके करीब है। यह और भी बेहतर है यदि आप इस उद्योग में काम करने वाली कंपनियों से परिचित हैं। कंपनी की रिपोर्ट को समझना सीखें: क्या उनकी बिक्री और मुनाफा बढ़ रहा है? लेनदारों को उनके कर्ज कितने बड़े हैं? एक ही क्षेत्र में उनके प्रतिस्पर्धियों की स्थिति कितनी मजबूत है?

सामान जिन्हें आप पसंद करते हैं, आपके द्वारा पहने जाने वाले कपड़े और आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले उपकरणों इन सब की सूची बनाएं । नियम के अनुसार, उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद अपने निर्माताओं के लिए अच्छा मुनाफा लाते हैं। ऐसी कंपनियों के शेयर आमतौर पर कीमत में बढ़ते हैं, और वे अच्छा लाभांश दे सकते हैं।

शोर्ट-टर्म और लॉन्ग टर्म ट्रेडिंग रणनीतियां क्या हैं?

कुछ निवेशकों के लिए शोर्ट-टर्म मूल्य में उतार-चढ़ाव से रिटर्न प्राप्त करना अधिक आकर्षक है। इस तरह के निवेश को आमतौर पर इंट्राडे ट्रेडिंग कहा जाता है। यह नाम इस तथ्य के कारण है कि सौदे एक ही दिन में किए जाते हैं।

यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग चुनते हैं, तो आपके शेयर डीमैट खाते में ट्रांसफर नहीं होंगे। यह खाता निवेशक द्वारा खरीदे गए शेयरों को डिजिटल रूप से स्टोर करता है। जब से सभी शेयर गैर-दस्तावेजी डिजिटल रूप में अभौतिकीकृत हो गए हैं, शेयरों का सौदे करने के लिए डीमैट खाता आवश्यक हो गया है।

इंट्राडे ट्रेडिंग आमतौर पर उन उपकरणों को फ्यूचर्स मानता है जिसके लिए एक ट्रेडिंग खाता ही पर्याप्त होता है और डीमैट खाते की जरूरत नहीं होती। हालाँकि, बाद में डीमैट खाता बनाना उपयोगी हो सकता है। इसके लिए अतिरिक्त लागत की आवश्यकता नहीं होगी। कई वित्तीय संस्थान आपको अपने ट्रेडिंग खाते के साथ एक डीमैट खाता खोलने की सुविधा देते हैं।

ट्रेड खोलने के लिए निवेशक को कमीशन देना पड़ता है। यदि सौदे दुर्लभ हैं, तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन इंट्राडे ट्रेडिंग के मामले में, कमीशन खर्च का कुल मूल्य कई गुना बढ़ जाता है। एक सफल ट्रेडर के लिए, यह क्षण कोई समस्या नहीं है क्योंकि लॉन्ग–टर्म के निवेश की तुलना हाई फ्रीक्वेंसी ट्रेडिंग संभावित रूप से अधिक लाभदायक है।

शेयर बाजार में ऑनलाइन निवेश: ट्रेडिंग या निवेश?

बेशक, इंट्राडे ट्रेडिंग आपको अपनी पूंजी को बहुत तेजी से बढ़ाने का अवसर देता है। साथ ही यह बहुत जोखिम भरा होता है। ट्रेडर्स को बाजार की स्थिति पर बारीकी से नजर रखनी ही पड़ती है। नतीजतन, वे जल्दी थक जाते हैं। इससे अक्सर प्रभाव डालने वाले गलत निर्णय और लाजमी नुकसान होते हैं।

अन्य निवेशक लंबी अवधि के लिए शेयर खरीदने में अधिक सहज होते हैं। लोकप्रिय लॉन्ग-टर्म निवेश रणनीतियों में से एक लाभांश शेयर खरीदना है। इस मामले में, निवेशकों को लाभांश के रूप में निष्क्रिय आय प्राप्त होती है। ऐसी अभिव्यक्ति भी है: “शेयर खरीदें और उनके बारे में भूल जाएं।” यह रणनीति बहुत आसान है, लेकिन लाभांश आमतौर पर शेयर की कीमत के कई प्रतिशत से अधिक नहीं होता है। इसलिए महत्वपूर्ण रिवार्ड प्राप्त करने के लिए और उसके लिए पर्याप्त शेयर खरीदने के लिए आपको अधिक धन की आवश्यकता होगी।

आपको कौन सी शैली सबसे अच्छी लगती है यह आपके मनोवैज्ञानिक झुकाव पर निर्भर करता है और आप निवेश पर कितना समय व्यतीत कर सकते हैं। पहली बार में सही चुनाव करना मुश्किल हो सकता है। लेकिन अगर आप ट्रेनिंग के लिए डेमो अकाउंट खोलते हैं तो यह काम बहुत आसान हो जाता है।

एक डेमो अकाउंट वास्तविक सौदों को मॉडल करता है, लेकिन निवेशक वर्चुअल फंड के साथ ट्रेड करता है। ऐसा खाता शेयर बाजार में ऑनलाइन निवेश शुरू करने और यह परिभाषित करने के लिए उपयोगी हो सकता है कि आपकी ट्रेडिंग रणनीति कितनी प्रभावी और लाभदायक है।

सारांश 

यदि आप केवल रिटर्न प्राप्त करने में रुचि रखते हैं तो आप एक अच्छे निवेशक बनने की संभावना नहीं रखते हैं। कोई भी उस चीज़ में सफल नहीं होगा जिसे वह प्यार नहीं करता। ऐसी चीजें करें जो आपको पसंद हों। निवेश के मामले में यह बिल्कुल सच है। रिटर्न पर ध्यान न दें। निवेश अपने आप में दिलचस्प है: यह एक विशेष दुनिया है जो उत्साही लोगों के लिए अपने रहस्यों को उजागर करती है। और निश्चित रूप से आपको आपके प्रयासों के उचित प्रतिफल के रूप में पूंजी मिल जाएगी।

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
5 मिनट
ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे शुरू करें
3 मिनट
वित्तीय लक्ष्य क्या है?
4 मिनट
स्टॉक खरीदने के लिए सही समय क्या है?
4 मिनट
निष्क्रिय आय (पैसिव इनकम) के पाँच फ़ीचर्स
4 मिनट
ओल्ड स्कूल ट्रेडिंग बनाम फिक्स्ड टाइम ट्रेडिंग: विविधता की जरूरत है
5 मिनट
क्रिप्टो और स्टॉक ट्रेडिंग के बीच समानताएं और अंतर