10-दिवसीय ट्रेडिंग रणनीतियाँ शुरुवाती लोगों के लिए

क्या आप जानते हैं कि इलेक्ट्रॉनिक ट्रेड ऑर्डर को भरने में 200 माइक्रोसेकंड से भी कम समय लगता है? यदि आपने कोई गलती की है तो आप बस उल्टा नहीं कर सकते। त्वरित प्रतिक्रिया और हिम्मत के अलावा, सफल इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए लगातार कार्य विधियों की आवश्यकता होती है। वे दिन के कारोबार में प्रगति की कुंजी और ट्रेडर्स का मुख्य टूल हैं, जिसके बिना वे सामान्य निवेशक बन जाते हैं, सुरक्षित नहीं होते और अंततः भयानक नुकसान के कारण बाजार छोड़ देते हैं। शीर्ष 10 ट्रेडिंग रणनीतियों की एक सूची जो आपको इस क्षेत्र में जल्दी और आसानी से प्रवेश करने में मदद करेगी।

स्लाइडिंग एवरेज स्ट्रेटेजी 

शुरुआती लोगों के लिए सबसे आसान ट्रेडिंग रणनीतियों के साथ इस कमाई के तरीके को एक्सप्लेन करना सबसे अच्छा है। स्लाइडिंग एवरेज एक ऐसा शब्द है जो एक निश्चित समय अवधि में उत्पाद की कीमत के औसत मूल्य को दर्शाता है। यह विधि अत्यंत सरल है: जिस बिंदु पर क्वोट स्लाइडिंग औसत से ऊपर होते हैं, उसे असेन्ट के रूप में जाना जाता है, जब यह कम होता है, तो यह डाउनवार्ड ट्रेंड होता है। इसके अलावा, वे सपोर्ट और रीज़िस्टन्स क्षेत्र के रूप में भी कार्य करते हैं, जिससे उत्पाद की कीमत बढ़ सकती है। एवरेज का प्रतिच्छेदन पोजीशन  में एंट्री को इंगित करता है।

मोमेंटम स्ट्रेटेजी 

इस रणनीति का आधार उन कारणों द्वारा बनता है जो संपत्ति से संबंधित कुछ समाचारों से उत्पन्न होते हैं। इस स्ट्रेटेजी का यह नाम एक कारण से है: सक्रिय न्यूज़ स्ट्रीम के आधार पर स्टॉक्स को ट्रेडिंग के लिए चुना जाता है, और इस मामले में, ट्रेडर को बाजार में निवेश करने से पहले सभी महत्वपूर्ण न्यूज़ का अध्ययन करना चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि समय पर पोजीशन में आना, न्यूज़ को मिनटों, घंटों या उसी दिन के भीतर में समझना और उनका उपयोग करना।

ट्रेडिंग ऑन रेवेर्सल्स

यह विकल्प काफी जोखिम भरा है, क्योंकि इसमें बाजार के रुझान के खिलाफ निवेश करना शामिल है। ट्रेडर का काम उन शेयरों को ढूंढना है जो उनके स्थानीय न्यूनतम/अधिकतम हैं और जब कीमत अचानक बदल जाती है तो उन्हें बेच देना हैं। स्ट्रेटेजी जटिल है क्यूँकि ट्रू रेवेर्सल लाइन्स को खोजने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। अन्य सभी डे- ट्रेडिंग रणनीतियाँ इससे कहीं अधिक सुरक्षित होती हैं, जिसका उपयोग अत्यंत अस्थिर स्थितियों में किया जाता है।

ब्रेकआउट-आधारित स्ट्रेटेजी 

यह विधि पिछली रेवेर्सल्स स्ट्रेटेजी के विपरीत है। कुछ सपोर्ट और रीज़िस्टन्स लेवल तभी ब्रेक थ्रू होते हैं जब ट्रेडिंग वॉल्यूम बढ़ता है। यदि कीमत लेवल से ब्रेकथ्रू होती है , तो ट्रेडर एक अनुकूल मार्किट पोजीशन में प्रवेश करता है। उस स्थिति में, ब्रोकन लेवल आपूर्ति और मांग रेखा का एक पूर्ण दृश्य प्रतिबिंब है। डिमांड में एक लेवल के बाद गैप होता है: जब पोटेंशियल ग्राहकों द्वारा आपूर्ति संतुष्ट नहीं होती है, तो कीमत तेजी से गिरती है।

गैप एंड गो रणनीति

स्ट्रेटेजी यूनिवर्सल है और लॉन्ग-टर्म ट्रेडिंग में इसका उपयोग किया जा सकता है। इस मेथड का आधार शेयरों की एक साधारण खरीद है जो ट्रेडिंग सत्र की शुरुआत में नीचे या ऊपर के अंतर के साथ खुलते हैं। इस विकल्प का उपयोग करने वाले एसेट्स को एक्वायर करते हैं, और फिर दिन के दौरान गैप्स के बंद होने की प्रतीक्षा करते हैं। यह एक काफी सामान्य प्रथा है, लेकिन यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि गैप को अच्छे के लिए खुला छोड़ा जा सकता है – या यूं कहें गैप को लम्बे समय तक खुला छोड़ना अच्छा है।

तीस-मिनट रेंज स्ट्रेटेजी 

इस मेथड का सार पांच मिनट की अवधि में आधे घंटे के बाजार का निरीक्षण करना है। उसके बाद, ट्रेडर चार्ट पर उस उच्चतम बिंदु पर एक रीज़िस्टन्स रेखा खींचता है, जिस पर बाजार 30 मिनट में पहुंचता है। सपोर्ट लाइन सबसे निचले स्तर पर दिखाई देती है। यह डेवलपमेंट की रेंज है। उसके बाद, एक ट्रेडर तब तक प्रतीक्षा करता है जब तक बाजार इनमें से किसी भी रेखा से टूट नहीं जाता है और उस स्तर पर लेनदेन खोलता है।

पिवट स्ट्रेटेजी #1

हम कह सकते हैं कि सभी बेहतरीन डे -ट्रेडिंग रणनीतियाँ पिवट पर आधारित होती हैं। इन बिंदुओं का उपयोग करने का पहला सरल तरीका यह है कि जब बाजार पिवट लेवल पर पहुंचता है, तो संपत्ति खरीद लें और जब वह रीज़िस्टन्स पॉइंट पर पहुंच जाए तो उसे बेच दें। बढ़ते बाजार में संपत्ति खरीदना और डाउनट्रेंड में स्तर के उलट होने पर उन्हें बेचना सबसे अच्छा है। जब बाजार तीसरे सपोर्ट लेवल से गुजरता है, तो खरीदारी करना उचित नहीं है। कीमत अक्सर इस पोजीशन से शुरू होती है, और बेचने वाले ट्रेडर्स हर संभव तरीके से इसका मुनाफा लेने की कोशिश करते हैं।

पिवट स्ट्रेटेजी #2

उनकी सपोर्ट का विभिन्न तरीकों से उपयोग किया जा सकता है, और लाभ बढ़ाने के लक्ष्य के रूप में बढ़िया काम किया जा सकता है। रिफरेन्स पॉइंट की एक अन्य भूमिका एक ट्रेंड इंडिकेटर होना है। यदि बाजार पिवट के ऊपर है, तो यह एक एसेंट है, यदि यह नीचे है – मतलब कीमतें गिर रही हैं। खरीद तब की जाती है जब कीमत इस स्तर से ऊपर जाती है, और बिक्री – जब यह नीचे जाती है।

चैकिन इंडिकेटर 

विभिन्न ट्रेडिंग रणनीतियाँ एक ही संकेतक का उपयोग करती प्रतीत होती हैं, लेकिन एक अलग आकार में। 1970 के दशक में मार्क चाइकिन द्वारा आविष्कार किया गया वोलाटिलिटी इंडिकेटर तकनीकी विश्लेषण में एक पूर्ण सफलता थी। यह विशिष्ट संपत्तियों के लिए ट्रेडिंग वॉल्यूम और प्राइस मूवमेंट की तुलना करता है, और इसका उपयोग इंट्राडे और दैनिक ट्रेडिंग दोनों में निर्णय लेने में होता है, जो खरीदने या बेचने के सही समय के बारे में बताता है। यह दर्शाता है कि एसेट ओवरसोल्ड है या ओवरखरीदा हुआ है, इस प्रकार इम्मिनेंट रिवेर्सल्स की भविष्यवाणी करता हुआ। सामान्य तौर पर, आईडिया यह है कि मार्किट ऑपरेशन को तभी किया जाए जब वह ए / डी (संचय / वितरण) लाइन को पार करता है, जो लंबी अवधि और छोटी अवधि की मूविंग एवरेज की तुलना का परिणाम है।

ओपनिंग गैप

यदि ओपनिंग में गैप है, तो इसका मतलब है कि अधिक ट्रेडर अब ट्रेडिंग के एक तरफ चले गए हैं। इस तरह का असंतुलन यह भी दर्शाता है कि भविष्य में बाजार उसी दिशा में आगे बढ़ेगा। एक स्टॉक सफल और लाभदायक होता है जब गैप पिछले दिन के न्यूनतम से नीचे खुलता है।

जैसा कि अभ्यास से पता चलता है, इस क्षेत्र में एक सफल शुरुआत करने के लिए आपको केवल बेसिक ट्रेडिंग नॉलेज की आवश्यकता है। शुरुआती और सर्वोत्तम रणनीतियों के लिए ऑनलाइन ट्रेडिंग टिप्स पढ़ते रहें, अनावश्यक जोखिम न लें, आप के लिए ट्रेडिंग एक शौक से अधिक बन सकता है। गुड लक!

डिस्क्लेमर: कोई भी स्ट्रेटेजी पॉजिटिव ट्रेड परिणाम की गारंटी नहीं दे सकती है।

आगे बढ़ने के लिए तैयार हैं? इस आर्टिकल के ताज़े ज्ञान को एक ट्रेडिंग प्रक्रिया में बदलें
Binomo पर जाएँ

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
5 मिनट
बोलिंगर बैंड ट्रेडिंग रणनीति क्या है?
6 मिनट
ट्रेडिंग रणनीतियों को कैसे सीखें
6 मिनट
न्यूनतम नुकसान के साथ व्यापार कैसे करें: 7 सुनहरे नियम
4 मिनट
पुलबैक ट्रेडिंग रणनीति का उपयोग कैसे करें
6 मिनट
सर्वोत्तम ट्रेडिंग रणनीतियाँ: शुरुआती लोगों के लिए एक गाइड
5 मिनट
ब्रेकआउट ट्रेडिंग रणनीति क्या है?