ओब्जेक्टिविटी: सही तरीके से ट्रेड्स को प्लान करें

यहां एक अच्छा समय प्रबंधन तथ्य है: यदि आप अपने दिन का प्लान बनाने के लिए 10-12 मिनट लगा लेते हैं, तो आप 2 घंटे तक बचा सकते हैं, जिसे आप अन्यथा बर्बाद कर देंगे। लेकिन इससे भी अच्छी बात यह है कि यदि आप ट्रेडिंग सत्र की तैयारी के लिए समय निकालते हैं, तो आप न केवल अपना समय बचा सकते हैं बल्कि संभावित रूप से अपने धन की भी बचत कर सकते हैं।

इसलिए, आपको एक ऑब्जेक्टिव मानसिकता के साथ बाजार का रुख करना चाहिए, जिसका अर्थ है कि आपको बिना भावना या झिझक के ट्रेड करने की आवश्यकता है। जैसा कि आप आज के विषय से बता सकते हैं, यह अच्छे से प्लान बनाने से आता है – और नीचे, आप तीन युक्तियों चेक कर सकते हैं जो आपको ट्रेडिंग में मदद कर सकती हैं।

1. बाजार खुलने से पहले अपने ट्रेड्स का प्लान बनाएं

आपके ट्रेडों की गुणवत्ता मात्रा से कहीं अधिक क्यों मायने रखती है

आप को लगता है कि हर कोई जानता है कि आपको सत्र से पहले अपने ट्रेडों के लिए प्लान बनाना चाहिए। लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि कितने लोग इस नियम को भूल जाते हैं या इसको अनदेखा कर देते हैं। वे दिन के लिए अपनी रणनीति बनाने के लिए ट्रेडिंग सत्र के शुरुआत तक प्रतीक्षा करते हैं। विशेषज्ञ ट्रेडिंग के हलकों में, ऐसा करने की बिलकुल अनुमति नहीं है।

जब ट्रेडिंग सत्र शुरू होता है, तो बहुत अधिक डिस्ट्रैक्शन होते हैं। यदि आप पहले से नहीं जानते हैं कि क्या करना है, तो आप या तो बहुत हिचकिचा सकते हैं या बहुत संदिग्ध हो सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप अतिरिक्त ट्रेड हो सकते हैं, जिसमें ट्रेडिंग लॉस रिटर्न को कम कर देते है।

दिन के लिए अपना पहला ट्रेड करने से पहले तैयारी के लिए कम से कम एक घंटा समर्पित करें। अपनी पोजीशन की समीक्षा करें, समाचार पढ़ें, और अपने लक्ष्यों और दिन के लिए सीमाओं का विवरण देते हुए एक प्लान बनाएं। 

2. बाजार की विभिन्न स्थितियों के लिए तैयार रहें

क्या आपने कभी ऐसा महसूस किया है कि जब आपको निर्णय लेने की आवश्यकता होती है तो आप फंस जाते हैं? शायद आप इस परिदृश्य के लिए तैयार नहीं थे। इससे बचा जा सकता है यदि आप पहले से विभिन्न स्थितियों और उनके समाधान के साथ आए।

तथाकथित अगर/फिर स्टेटमेंट बनाने के लिए यह एक अच्छा समय हो सकता है। कल्पना कीजिए कि आप एक निश्चित स्टॉक के लिए ट्रेड की योजना बना रहे हैं, और आप इसे दो विशिष्ट परिदृश्यों में से एक का पालन करने की उम्मीद करते हैं। उदाहरण के लिए:

  • यदि 50-दिन, 200-दिन से अधिक हो जाता है, और आसलैटर द्वारा इसकी पुष्टि की जाती है, तो आप खरीद लेंगे।
  • यदि यह नीचे से पार हो जाता है, तो आप अधिक अनुकूल परिस्थितियों की प्रतीक्षा करेंगे।

जितना हो सके उतने संभावित परिणामों के लिए इन स्टेटमेंट्स को लिखिए। यह सभी प्रकार की बाज़ार स्थितियों के लिए शीघ्रता से प्रतिक्रिया करने के आपके अवसर को अधिकतम करेगा।

आपको काल्पनिक रूप से सोचने की जरूरत नहीं है। यदि आप अपने स्वयं के अनुभवों से सीखें तो यह और भी बेहतर होगा। अतीत में, क्या आपकी उम्मीदें उस दिन वास्तव में हुई घटनाओं से मेल खाती थीं? आपकी प्रतिक्रिया कैसी रही? क्या यह अंत में एक अच्छा ट्रेड था? ये आपके अगर/ फिर स्टेटमेंट्स के लिए ढांचा हो सकते हैं।

10 संकेत जो दर्शाते हैं कि आप एक ट्रेडर के रूप में सफल होंगे
कई ट्रेडरों के पास कई कुदरती लक्षण होते हैं जो उन्हें सफल बनाते हैं। बाकी लोगों को उन पर काम करना पड़ता है। पता लगाएँ कि आपके पास कौन से हैं!
अधिक पढ़ें

3. अपने लाभ-हानि अनुपात का आकलन करें और खुद को ग्रेड दें

ट्रेडिंग करते समय डर को कैसे दूर करें

इससे पहले कि आप अगले सत्र की योजना बना सकें, आपको पहले सत्र की समीक्षा करनी होगी। इसे अपने आप को उस समय में वापस लेने के रूप में सोचें जब आपके पेपर्स को ग्रेड किया गया था और अपने ट्रेडिंग परिणामों के साथ भी ऐसा ही करें।

आपके खाते द्वारा किए गए कुल रिटर्न और सत्र के दौरान हुए नुकसान की गणना करें। अपने  कैपिटल और रिस्क मैनेजमेंट प्लान्स के साथ इन परिणामों का मिलान करें: क्या आपके नुकसान सामान्य से अधिक हैं? क्या वे आपके द्वारा बनाए गए रिटर्न से बराबर हो गए थे? क्या आपको कोई ऐसा पैटर्न दिखाई देता है जिसके कारण आपको लगातार हार झेलनी पड़े? आप कैसे सुधार कर सकते हैं?

याद रखें कि आपके लाभ-हानि अनुपात का विश्लेषण केवल संख्याओं के बारे में नहीं है। आपका “फाइनल ग्रेड” आपको हतोत्साहित करने के लिए नहीं है। इसे एक मध्यावधि मानें जो आपको दिखाता है कि कौन से क्षेत्र में सुधार हो सकता है। यदि समीक्षा से पता चलता है कि आप अपनी ट्रेडिंग योजना से भटक गए थे और सत्र असंतोषजनक था, तो अपनी ट्रेडिंग योजना को ठीक उसी तरह लागू करें जैसा कि कोई भी बदलाव करने से पहले लिखा गया था।

अंतिम विचार

दिन के लिए अपनी ट्रेडिंग योजना तैयार करनी है, इसलिए आपकी सुबह तब हर दिन व्यस्त होगी। लेकिन अगर आप इसे सही तरीके से करते हैं और योजना से भटकते नहीं है, तो आप भावनात्मक ट्रेडिंग के जोखिम को कम कर देंगे। डर, घबराहट और एफओएमओ खराब ट्रेडिंग निर्णय लेने के लिए अग्रसर कर सकते हैं, लेकिन ओब्जेक्टिविटी आपको शांत रहने में मदद कर सकती है।

लाइक
साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!
सबंधित आर्टिकल
4 मिनट
एक प्रो व्यापारी बनने में कितना समय लगता है?
4 मिनट
ट्रेडर या निवेशक: क्या अंतर है?
5 मिनट
10 संकेत जो दर्शाते हैं कि आप एक ट्रेडर के रूप में सफल होंगे
4 मिनट
5 सबसे आम व्यापारिक भावनाएं
3 मिनट
ट्रेडिंग के बारे में पूर्व धारणा जिनसे शुरू करने से पहले आपको छुटकारा पाना होगा
4 मिनट
4 मानसिक हैक्स जो आपके व्यापार को बेहतर के लिए बदल देंगे

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें