ट्रेडिंग घाटे से उबरने के 7 प्रभावी तरीके

ट्रेडिंग करते समय, अंततः एक समय ऐसा आता है जब आपको नुकसान होता है। यहां तक ​​​​कि सबसे अनुभवी ट्रेडर्स को भी इसका सामना करना पड़ता है। हालांकि, ट्रेडिंग नुक्सान दुनिया का अंत नहीं है। आप इसे रिकवर कर लोगे। आपको बस यह जानने की जरूरत है कि नुकसान से कैसे उबरें और उनसे कैसे निपटें! हम नीचे दिए गए आर्टिकल से जानकारी लेंगे कि आप इसे कैसे कर सकते हैं।

1.जिम्मेदारी स्वीकार करें और अपनी गलतियों से सीखें

सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक जो आपको अवश्य करना चाहिए, वह है नुकसान की    जिम्मेदारी स्वीकार करना। अंतत: आपने उन ट्रेडों को अंजाम दिया था जिससे नुकसान हुआ।

ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म, संपत्ति या आर्थिक माहौल जैसी अन्य चीजों पर दोष मढ़ना इसका जवाब नहीं है। ये योगदान देने वाले कारक हो सकते हैं लेकिन दोष को इनपे लादने से आपको अपनी ट्रेडिंग रणनीति में सुधार करने में मदद नहीं मिलेगी। आप बस उसी योजना को जारी रखेंगे जिससे नुकसान हुआ और संभावित रूप से और नुकसान झेलेंगे।

जिम्मेदारी स्वीकार करें और अपनी गलतियों से सीखें।

2.ब्रेक लें और जल्दबाजी में निर्णय लेने से बचें

नुकसान के बाद आप जो सबसे खराब काम कर सकते हैं, वह है ट्रेडिंग जारी रखना।

हारने के बाद आपकी भावनाओं में उथल-पुथल रहेगी। आप क्रोधित, परेशान, भ्रमित और तनावग्रस्त महसूस कर रहे होंगे। भावनाओं का यह जमावड़ा अधिक खराब ट्रेडिंग निर्णय लेने के लिए तूफान का काम करता है।

अपने मॉनिटर या स्मार्टफोन से दूर रहें। अपना ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म बंद करें। और ब्रेक लें।

ट्रेडर्स के पास वैश्विक बाजारों, ऑनलाइन पहुंच और वर्ष में बड़ी संख्या में ऐसे दिन होते हैं जब आप ट्रेड कर सकते हैं। इसलिए, शांत होने, अपने मन को सँभालने और अपनी भावनाओं की उथल-पुथल को रोकने के लिए ब्रेक लेने में कोई बुराई नहीं है।

3.अपना आत्मविश्वास वापस पाने के लिए डेमो खाते पर वापस लौटें

एक बड़ा ट्रेडिंग नुकसान आमतौर पर आपके आत्मविश्वास को बहुत बड़ा झटका देता है – यह समझ में आता है। इसलिए, दोबारा नुकसान होने के डर से आपको ट्रेड शुरू करना मुश्किल लगता है।

इस मामले में, डेमो खाते पर वापस लौटें। अधिकांश ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और ब्रोकर डेमो अकाउंट देते हैं जहां आप अपनी रणनीतियों का अभ्यास कर सकते हैं। रीयल-मनी ट्रेडिंग में वापस जाने से पहले अपने आत्मविश्वास को फिर से बनाने के लिए डेमो अकाउंट का उपयोग करने में समय बिताएं।

4.छोटी शुरुआत करें

एक बार जब आप डेमो अकाउंट के माध्यम से अपना आत्मविश्वास वापस पा लेते हैं, तो तुरंत बड़ा ट्रेडिंग शुरू करने की कोई आवश्यकता नहीं है। वक़्त के साथ, आप फिर से सफल होंगे, और आप फिर से अच्छा मुनाफा कमाएंगे।

नुकसान के तुरंत बाद, रूढ़िवादी बनें और छोटे ट्रेड करें। धैर्य यहाँ कुंजी है। एक बार जब आप कुछ छोटे लाभ वाले ट्रेड कर लेते हैं, तो आपका आत्मविश्वास बढ़ जाएगा। वहां से आप ट्रेडिंग राशि बढ़ाना शुरू कर सकते हैं, और अपनी पिछली पोजीशन में वापस आ सकते हैं।

5.मूल बातें और अपनी ट्रेडिंग योजना का पुनर्मूल्यांकन करें

एक और बहुत महत्वपूर्ण बात यह देखना है कि क्या गलत हुआ। आपको नुकसान क्यों हुआ? क्या यह गलत समय पर किया गया ट्रेड था? या शायद आपने गलत प्रकार का ऑर्डर चुना है? ट्रेड को इंगित करें, और उस कारण को भी जिसकी वजह से आपको नुकसान हुआ।

यहां से, आप स्थिति का आकलन कर सकते हैं और यदि आवश्यक हो तो अपनी ट्रेडिंग योजना में बदलाव कर सकते हैं। मूल बातें देखें और सुनिश्चित करें कि आप अपने सेटअप और आप जो कर रहे हैं उससे खुश हैं। क्या आपकी ट्रेडिंग योजना वर्तमान आर्थिक माहौल के लिए प्रभावी है? क्या आपको कोई बदलाव करने की ज़रूरत है? अपनी ट्रेडिंग योजना का पुनर्मूल्यांकन और उसे परफेक्ट करने के लिए जितना हो सके उतना समय व्यतीत करें।

6.नुकसान के बाद प्रतीक्षा करें 

जैसा कि कहा जाता है, ट्रेडिंग लॉस का एहसास तभी होता है जब आप एसेट बेचते हैं। तब तक, यह एक “अवास्तविक नुकसान” है – यह काल्पनिक है और वास्तव में आपकी निचली रेखा को प्रभावित नहीं करता है।

एक प्रशंसनीय पुनर्प्राप्ति रणनीति केवल नुकसान के बाद प्रतीक्षा करना और इसे अवास्तविक छोड़ देना है। उदाहरण के लिए, आप संपत्ति पर तब तक पकड़ बना कर रख सकते हैं जब तक कीमत आपके मूल खरीद मूल्य पर वापस उछल ना जाए। हो सकता है, नुक्सान को अवास्तविक छोड़ने पर लाभ भी होजाए यदि कीमत वापस उछलती है और आपके खरीद मूल्य से अधिक हो जाती है।

नुकसान तब ही नुकसान होता है जब आप बेचते हैं!

7.अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने पर विचार करें

अंत में, यह आपके पोर्टफोलियो में विविधता लाने का समय हो सकता है। ज्यादातर मामलों में, विविध ट्रेडिंग पोर्टफोलियो रखना फायदेमंद होता है। इसमें कम-जोखिम वाली संपत्तियों का एक गढ़ शामिल होना चाहिए जिनमें अधिक अनुमानित मूल्य में उतार-चढ़ाव हो। कुछ उच्च-जोखिम वाली संपत्तियाँ जिनकी कीमतें अस्थिर होती हैं उनसे इनके प्रभाव को कम किया जा सकता है। 

जब आप नुकसान का अनुभव करते हैं तो एक संतुलित और विविध पोर्टफोलियो मदद कर सकता है और आपको वापस उठने के लिए एक सुरक्षा प्रदान करता है।हम समझते हैं कि नुकसान एक ट्रेडर के रूप में आपके आत्मविश्वास के लिए वास्तविक झटका है। हालाँकि, जैसा कि आपने ऊपर समझा है, रिकवरी सरल है! इन सात युक्तियों का उपयोग करके, आप आगे चलकर अपनी ट्रेडिंग प्रक्रिया को समेकित, समायोजित और बेहतर बनाने में सक्षम होंगे।

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
4 मिनट
प्रो-जोखिम लेने की मानसिकता कैसे प्राप्त करें
4 मिनट
5 सरल प्रथाएं जो आपको रातोंरात एक बुरा व्यापारी बनने के लिए बदल देंगी
4 मिनट
5 सबसे आम व्यापारिक भावनाएं
5 मिनट
क्या आप एक फोमो ट्रेडर हैं?
4 मिनट
सफल व्यापारियों की मनोवैज्ञानिक मानसिकता
4 मिनट
अपने ट्रेडों की प्रभावी ढंग से समीक्षा कैसे करें