मोमेंटम ट्रेडिंग: शुरुआत करने वालों के लिए स्पष्टीकरण और रणनीतियाँ

मोमेंटम ट्रेडिंग लोकप्रिय है। ट्रेडर्स इसका इस्तेमाल शॉर्ट टर्म बेसिस पर प्राइस मोमेंटम का फायदा उठाने के लिए करते हैं। हालांकि स्टॉक के साथ मोमेंटम ट्रेडिंग वास्तव में आकर्षक हो सकती है, लेकिन इसका प्रभाव बहुत बुरा भी हो सकता है यदि आप ट्रेड को अच्छी तरह से तैयार और प्रबंधित नहीं करते हैं।

मोमेंटम ट्रेडिंग क्या है?

मोमेंटम ट्रेडिंग रणनीति का उपयोग करते समय, आपको एक ऐसे बाजार को खोजने की आवश्यकता होती है, जिसने स्पष्ट कदम लिया हो चाहे ऊपर की तरफ चाहे नीचे की तरफ। जिसकी ओर आप खरीदने के लिए देख रहे हैं जब कीमत काफी अधिक हो गई है तब आप इस मूल्य-वृद्धि के मोमेंटम का उपयोग लाभ कमाने के लिए करते हैं क्योंकि आप उम्मीद करते हैं कि मोमेंटम मूल्य वृद्धि को जारी रखेगी।

Binomo पर कुशल ट्रेडिंग के लिए पहला कदम

आप इस उदाहरण चार्ट में देख सकते हैं कि कीमत तेजी से बढ़ रही है। जब कीमतें बढ़ रही हों तो खरीदारी करने का यह एक अच्छा समय होगा।

शॉर्ट टर्म में मोमेंटम ट्रेडिंग

बहुत सारे ट्रेडर इंट्रा-डे ट्रेड के साथ मोमेंटम ट्रेडिंग का उपयोग करते हैं। इसका मतलब है कि वे पांच मिनट या पंद्रह मिनट जितनी छोटी समय सीमा का उपयोग करते हैं। तथ्य यह है कि आप इतनी जल्दी ट्रेडों में प्रवेश कर सकते हैं और बाहर निकल सकते हैं, यही कारण है कि यह इतना लोकप्रिय है।

जब आप 15-मिनट के चार्ट का ट्रेड करने का निर्णय लेते हैं तो ट्रेडिंग के हज़ारों अवसर मिलते हैं क्योंकि रुझान वास्तव में तेज़ी से बदलते हैं।

मोमेंटम ब्रेकआउट

मोमेंटम सेटअप का पता करने के लिए, आप या तो एक इंडिकेटर का उपयोग कर सकते हैं या मोमेंटम ब्रेकआउट की तलाश कर सकते हैं। मोमेंटम ब्रेकआउट तब होता है जब कीमत पहले से ही काफी ज़ोरदार तरीके से कम या ज्यादा हो गई है। फिर, कीमत समेकित होती है और अक्सर एक बॉक्स के गठन में चलती है। जब बॉक्स टूटता है, तो ट्रेडर मोमेंटम की दिशा में ट्रेड करना चाहता है।

आइए एक उदाहरण देखें:

कीमत अधिक हो गई है और फिर रुक गई है और एक बॉक्स में चली गई है। इसके बाद कीमत फिर से अधिक स्तर पर पहुंच गई है और मोमेंटम जारी है।

11 उद्धरण जो आपके ट्रेडिंग को बदल सकते हैं
प्रसिद्ध व्यापारियों, अर्थशास्त्रियों और उद्यमियों से इन शक्तिशाली ट्रेडिंग ज्ञान की बातों को देखें।
अधिक पढ़ें

मोमेंटम ट्रेडिंग के लिए इंडिकेटर क्या है?

मोमेंटम ट्रेडिंग के लिए एक लोकप्रिय (यदि सबसे लोकप्रिय नहीं) इंडिकेटर मूविंग एवरेज है। यह तब दिख सकता है जब ट्रेंड्स बन रहे होते हैं और साथ ही तब भी जब एक स्ट्रोंग मोमेंटम का निर्माण हो रहा है।

मोमेंटम ट्रेडिंग के उदाहरण

रणनीति बनाम ट्रेड सिस्टम: क्या अंतर है?

सभी बाजारों में, ट्रेडर्स सर्वोत्तम मूल्य पर ट्रेड में प्रवेश करना चाहते हैं। मोमेंटम ट्रेडिंग में भी ऐसा ही है। कई ट्रेडर्स केवल यह देखना चाहते हैं कि कीमत कब मांग या आपूर्ति क्षेत्र में मोमेंटम के साथ के साथ कम होती है।

पहला कदम स्ट्रोंग मोमेंटम की पहचान करना है। फिर, आप एक अच्छा एंट्री पॉइंट खोजने के लिए एक उच्च पुलबैक की तलाश करें।

नीचे दिया गया उदाहरण रिज़िस्टन्स में कीमत में गिरावट पर प्रकाश डालता है। मोमेंटम कम होने पर यह एक संभावित प्रवेश बिंदु है।

चार्ट इस पर प्रकाश डालता है, जो मजबूत चाल को नीचे की तरफ दिखाता है।

मोमेंटम ट्रेडिंग पर अंतिम विचार

जब सही तरीके से किया जाता है तो मोमेंटम ट्रेडिंग अक्सर आकर्षक होती है। बहुत सारे ट्रेडर्स इस लेख में सूचीबद्ध रणनीतियों का उपयोग अपने अन्य उपकरणों और तकनीकों के साथ उच्च संभावना वाले एंट्री पॉइंट्स को खोजने के लिए करते हैं। इनमें से कुछ अन्य रणनीतियों जिनका उपयोग किया जाता है वह प्राइस एक्शन क्लू और जापानी कैंडलस्टिक्स हैं।

लाइक
साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!
सबंधित आर्टिकल
9 मिनट
सर्वोत्तम ट्रेडिंग रणनीतियाँ: शुरुआती लोगों के लिए एक गाइड
4 मिनट
डाइवर्जन्स का उपयोग करके ट्रेडिंग कैसे करें
5 मिनट
"नाइट चैनल" ट्रेडिंग रणनीति
5 मिनट
क्रिप्टोकरेंसी के लिए सबसे अच्छी ट्रेडिंग रणनीतियां क्या हैं?
4 मिनट
ट्रेडिंग रणनीति का बैकटेस्ट कैसे करें
7 मिनट
स्कैल्पिंग: शुरुआती लोगों के लिए डे ट्रेडिंग स्ट्रेटेजीज

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें