ऑनलाइन ट्रेड कैसे करें

क्या आप जानते हैं कि कोविड-19 महामारी के दौरान गिरावट के बावजूद वैश्विक शेयर बाजार लगातार बढ़ रहा है और नई ऊंचाइयों को छू रहा है? उदाहरण के लिए, वैश्विक इक्विटी बाजारों का कुल मूल्य नवंबर 2021 में रिकॉर्ड $95 ट्रिलियन तक पहुंच गया। इसका कारण शेयरों, बांडों और अन्य सिक्योरिटीज से डील करने वाले ट्रेडर्स और निवेशकों की बढ़ती संख्या है। जबकि कुछ इसे फुल-टाइम नौकरी के रूप में करते हैं, बाकी लोग ट्रेड को अतिरिक्त आय प्राप्त करने के अवसर के रूप में देखते हैं।

ट्रेडिंग के बारे में बहुत सारे आर्टिकल होने के बावजूद, इस विष्य को समझना अभी भी कठिन है। यह आपको सोचने पर मजबूर कर सकता है कि ट्रेड करना मुश्किल है, और आप कोशिश भी नहीं करना चाहते हैं। केवल कुछ शुरुआती ट्रेडर्स को एहसास होता है कि बड़े खेल को शुरू करने के लिए उन्हें केवल सही ज्ञान और कुछ प्रैक्टिस की आवश्यकता होती है।

आइए शुरुआत करें और पता करें कि ऑनलाइन ट्रेड कैसे करें। यहाँ ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए एक संक्षिप्त शुरुआत करने वाली गाइड प्रदान की गई है:

1. ब्रोकरेज खाता खोलें

बेशक, आप ब्रोकरेज खाता बनाए बिना ट्रेडिंग शुरू नहीं कर सकते। खाता खोलने से पहले आपको एक उपयुक्त ऑनलाइन ब्रोकर चुनना चाहिए।

पहले से ही अनुभवी निवेशकों के बराबर बनने की कोशिश न करें; शैक्षिक संसाधनों के साथ सेवाओं पर ध्यान देना बेहतर है। पहली ब्रोकरेज साइट जो आपके सामने आए उस पर न तो खाता खोलें और न ही खोलने की जल्दी करें। सबसे पहले, अपने ट्रेडिंग लक्ष्यों को निर्धारित करें, जो आपको ब्रोकर चुनने में मदद करेंगे। दूसरे, अपने आप को उनके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं और अवसरों से परिचित कराएं और सुनिश्चित करें कि यह ब्रोकर आपके देश में कानूनी है।

कई ऑनलाइन ब्रोकरों के पास एक डेमो खाता विकल्प होता है जो उपयोग करने लायक होता है। यह आपकी इस बात को समझने में मदद करेगा कि क्या इंटरफ़ेस सुविधाजनक है और क्या ट्रेडिंग के लिए बहुत सारे टूल उपलब्ध हैं। इसके अलावा, आपको यह आश्वस्त होने की आवश्यकता है कि ट्रेडिंग स्थितियां वास्तव में आपके अनुकूल हैं। दिलचस्प ऑफ़र पर ध्यान दें जो ये सेवाएं अपने ग्राहकों को दे सकती हैं। समीक्षाएं पढ़ें, और उसके बाद, इसके बारे में अपना मन बनाएं।

2. अपना समय तय करें

दूसरा, कोई कम महत्वपूर्ण कदम नहीं है, यह निर्धारित करना है कि आप ट्रेडिंग पर कितना समय खर्च करने को तैयार हैं। यह परिभाषित करेगा कि आप एक एक्टिव (सक्रिय) या पैसिव  (निष्क्रिय) निवेशक बनना चाहते हैं।

कुछ लोगों के लिए ट्रेडिंग फुल-टाइम नौकरी है। वे बाजार की स्थिति, वैश्विक अर्थव्यवस्था और संभावित आकस्मिकताओं का अनुसरण करने के लिए मॉनिटर के सामने घंटों बैठ सकते हैं। लेकिन अगर आप इस मौके को लॉन्ग-टर्म निवेश के अवसर के रूप में मान रहे हैं या रेनी-डे फण्ड बनाने के रूप में देख रहें हैं, तो दिन में केवल एक या दो घंटे खर्च करना आपके अधिग्रहण में स्थिरता और विश्वास के लिए पर्याप्त है।

चुना हुआ ट्रेडिंग एप्रोच आपको निवेश करने के लिए प्रारंभिक राशि और उपयुक्त वित्तीय साधनों को परिभाषित करने में मदद करेगा।

3. पहला ट्रेडिंग प्रयास

बड़ा खेलने की जरूरत नहीं है; एक डेमो अकाउंट से शुरू करें जो आपको टेस्ट पोजीशन खोलने के लिए “नकली फंड” प्रदान करता है और यह समझें कि बाजार वास्तव में कैसे काम करता है। अपने भविष्य के निवेश के दायरे का अध्ययन करें, और मौलिक और तकनीकी विश्लेषण पर फोकस करें और साथ में फाइनेंसियल लिटरेसी पर ध्यान दें।

अक्सर लोग बिना सोचे-समझे पोजीशन खोलते हैं, थकते हैं, और फिर बाद में कोशिश नहीं करना चाहते हैं। इसलिए यदि आप बाजार को समझते हैं, तो आपके पास अतिरिक्त आय बनाने और इसे और बढ़ाने का एक बेहतर मौका है। हालांकि, अप्रत्याशित स्थितियां आ जाती हैं। इसलिए, भले ही पूर्वानुमान आशावादी लगे, आपको रिलैक्स नहीं करना चाहिए। सब कुछ किसी भी क्षण बदल सकता है क्योंकि बाजार बहुत डायनामिक और अन्प्रीडिक्टबल होते हैं।

इसलिए डेमो अकाउंट को आजमाने के मौके से न चूकें। वे आपको अपना पैसा खोए बिना एक नए क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करने का मौका देते हैं।

4. जमा राशि

आमतौर पर, कई जमा विकल्प होते हैं:

  • बैंक कार्ड
  • बैंक खाता
  • आपकी ऑनलाइन ब्रोकर सेवा द्वारा प्रदान की जाने वाली अन्य विधियां

विश्वसनीय ब्रोकरेज सेवाओं को आपकी पहचान की पुष्टि करने के लिए व्यक्तिगत जानकारी की आवश्यकता होती है। यदि आप नियमित रूप से ऑनलाइन ट्रेड करने की योजना बना रहे हैं, तो आप जमा करना भूल सकते हैं। आपके खाते में रेकरिंग डिपाजिट को ऑटोमेट करने के सबसे आसान तरीकों में से एक डायरेक्ट डेबिट है। आप ऑनलाइन आवेदन में अपना खाता खोलते समय ऐसा कर सकते हैं। आमतौर पर, आपको केवल एक अनुरोध भेजने की आवश्यकता होती है।

5. बड़े खेल का समय

खैर, अब आप सभी एकत्रित जानकारी को प्रैक्टिस में लागू कर सकते हैं। फिर भी, कभी-कभी एक अनुभवी निवेशक भी वास्तविक धन का ट्रेड शुरू करने का सबसे अच्छा समय निर्धारित नहीं कर सकता है। समय के साथ, आप खरीद और बिक्री दोनों के लिए सबसे अनुकूल समय निर्धारित करना सीख जाएंगे। रिस्क मैनेजमेंट के बारे में पढ़ने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह किसी भी निवेशक की बेसिक स्किल्स में से एक है। जानकारी के अथाह समुद्र में तुरंत गोता न लगाएं। सरल शुरुआत करें: विभिन्न पुस्तकें पढ़ें, नोट्स बनाएं, और निश्चित रूप से, अपने सामाजिक दायरे का विस्तार करें। अन्य निवेशकों से मिलें, अनुभव साझा करें और अपनी कठिनाइयों और गलतियों के बारे में बात करें।

ध्यान दें: जीत और हार आपको भावनाओं से निपटने की क्षमता सिखाती है। किसी निर्णय पर आने से पहले हमेशा सोचें और इसके पक्ष-विपक्ष को तौलें। बड़े और तेज रिटर्न के पीछे मत भागें; शुरुआत में आपके द्वारा निर्धारित लक्ष्य की ओर धीरे-धीरे और समझदारी से आगे बढ़ना अधिक विश्वसनीय है।

सारांश

यदि आप शुरुवात कर रहे हैं, तो केवल अपने ज्ञान पर भरोसा न करें। उपयोगी सलाह और मार्गदर्शन के लिए अनुभवी ट्रेडर्स से पूछें, ट्रेडिंग के बारे में मैटीरियल्स पढ़ें , आपके द्वारा ट्रेड की जाने वाली सिक्योरिटीज़ पर अपनी ऑब्जरवेशन को रिकॉर्ड करें, वर्तमान बाजार की स्थिति, विकास की संभावनाएं आदि। ट्रेडिंग रणनीतियों और जोखिमों को खुद को परिचित करने लाभदायी है। आपको भाग्य पर भरोसा नहीं करना चाहिए, बल्कि अनुशासन और धैर्य का प्रैक्टिस करना चाहिए।

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
4 मिनट
आपके जोखिम प्रबंधन करने की क्षमता को बेहतर बनाने के लिए 7 आसान टिप्स
6 मिनट
आपकी युवावस्था में सीखने लायक सात वित्तीय सत्य
3 मिनट
शेयर बाजार में व्यापार कैसे शुरू करें
4 मिनट
स्टॉक खरीदने के लिए सही समय क्या है?
4 मिनट
नेट वर्थ क्या है?
4 मिनट
कैसे तय करें कि कौन सा स्टॉक खरीदना है?