स्टॉक चार्ट कैसे पढ़ें?

स्टॉक चार्ट एक्सचेंज ट्रेडिंग के दौरान तकनीकी विश्लेषण का आधार है। वे किसी विशेष इंस्ट्रूमेंट के उद्धरणों में ट्रेंड्स का विश़ूअल मूल्यांकन करने, प्राइस मूवमेंट्स की भविष्यवाणी करने और किसकी स्थिति मजबूत है (आपूर्ति या मांग) का विश्लेषण करने में मदद करते हैं। आइए जानें हम किन चार्ट्स को देख सकते हैं और स्टॉक मार्केट चार्ट को समझने में कैसे गुरु बन सकते हैं।

दिलचस्प! स्टॉक चार्ट रीडिंग आधुनिक तकनीकी विश्लेषण के केंद्र में है, जिसकी स्थापना 20 वीं शताब्दी की शुरुआत में वॉल स्ट्रीट जर्नल और डॉव जोन्स इंडेक्स के संस्थापक चार्ल्स डॉव ने की थी।

स्टॉक ग्राफ प्रकार

चार्ट की किस्मों और उनके संयोजनों का व्यापक रूप से अनुभवी निवेशकों और शुरुआती दोनों द्वारा ट्रेडिंग में उपयोग किया जाता है। स्वाभाविक रूप से, उपलब्ध सभी साधनों में से कई ऐसे हैं जो केवल व्यापक अनुभव वाले ट्रेडर्स के लिए प्रभावी हैं।

नए व्यापारियों के लिए शीर्ष 5 तकनीकी विश्लेषण पुस्तकें

लेकिन कुछ बुनियादी स्टॉक चार्ट प्रकार हैं जो अनावश्यक जटिलताओं के बिना किसी संपत्ति के बारे में जानकारी प्रकट कर सकते हैं – उदाहरण के लिए, स्टॉक मार्केट ग्राफ। यहाँ मुख्य तरह के बारे में बताया गया हैं:

लाइन चार्ट: यह प्राइस मूवमेंट की सबसे सरल छवि का प्रतिनिधित्व करता है, लेकिन साथ ही, यह केवल एक कॉम्पोनेन्ट को दर्शाता है (कमी: यह रैशनल निर्णय लेने के लिए पर्याप्त नहीं है)।

बार चार्ट: यह एक सूचनात्मक विश़ूअल संस्करण है जिसमें रुचि वाले मुख्य संकेतकों के बारे में बताया जाता हैं: अर्थात्, चयनित समय अवधि के लिए मैक्सिमम और मिनिमम प्राइस लेवल, साथ ही ओपनिंग और क्लोजिंग मूल्य।

जापानी कैंडल स्टॉक ग्राफ: यह एक लोकप्रिय टूल है जो बार के समान पैरामीटर प्रदर्शित करता है, लेकिन विज़ुअलाइज़ेशन अधिक सुविधाजनक है।

पॉइंट-टू-डिजिट चार्ट (टिक-टैक-टो): इस ग्राफ में भी प्राइस चेंज बार शामिल हैं, जिसमें जीरो एक दी हुई निश्चित संख्या के साथ स्तर में गिरावट को दर्शाता है, और क्रॉस एक समान मूल्य से वृद्धि को दर्शाता है।

हिस्टोग्राम: इनका अलग से उपयोग नहीं किया जाता है, लेकिन अन्य स्टॉक मार्केट ग्राफ़ के पूरक होते हैं, और पूर्ण ट्रेडों की वॉल्यूम दिखाते हैं। लाइन की ऊंचाई जितनी अधिक होगी, बाजार में परिसंपत्ति का कारोबार उतना ही अधिक सक्रिय होगा।

पहले तीन प्रकार के ट्रेड चार्ट सबसे अधिक बार उपयोग किए जाते हैं, तो आइए जानें कि उन्हें कैसे पढ़ना और समझना है।

लाइन चार्ट कैसे पढ़ें?

फिबोनैकी लेवल्स को कैसे ड्रा करें

तो, एक लाइन के रूप में बने स्टॉक चार्ट को कैसे पढ़ा जाए? यह प्रकार सबसे आसान है: समय और मूल्य अक्षों के साथ एक रेखा खींची जाती है, जो ट्रेडिंग अवधि को बंद करने वाले क्वोट के मूल्य को दर्शाती है। इसका उपयोग जनरल ट्रेंड को ट्रैक करने के लिए किया जाता है, अर्थात, संपत्ति की कीमत बढ़ रही है या गिर रही है। हालांकि, अतिरिक्त जानकारी का अध्ययन किए बिना निर्णय लेना असंभव है। ऑप्टीमल समय सीमा एक दिन से लेकर कई घंटों तक होती है।

बार चार्ट कैसे पढ़ें?

यह समझना भी महत्वपूर्ण है कि स्टॉक बार चार्ट का विश्लेषण कैसे किया जाता है। ग्राफ़ का स्वरूप सेरिफ़ के साथ वर्टीकल कालम से बना है। बॉर्डर्स का मतलब मैक्सिमम और मिनिमम क्वोट हैं। बाईं ओर का पायदान शुरुआती मूल्य( ओपनिंग प्राइस) है, दाईं ओर का पायदान समापन मूल्य (क्लोजिंग प्राइस) है।

स्टॉक को समझने के बाद, ट्रेडर्स जिसमें रुचि है उस ग्राफ के हिस्से पर माउस कर्सर मँडरा कर सटीक आंकड़े देख सकते हैं। स्टॉक चार्ट का प्रत्येक बार चयनित समय सीमा के लिए भाव में उतार-चढ़ाव को दर्शाता है – यह पांच मिनट, एक घंटा, एक दिन हो सकता है। अगली अवधि के अंत में, एक नई रेखा बनती है।

10 संकेत जो दर्शाते हैं कि आप एक ट्रेडर के रूप में सफल होंगे
कई ट्रेडरों के पास कई कुदरती लक्षण होते हैं जो उन्हें सफल बनाते हैं। बाकी लोगों को उन पर काम करना पड़ता है। पता लगाएँ कि आपके पास कौन से हैं!
अधिक पढ़ें

जापानी कैंडल्स चार्ट को कैसे पढ़ें?

यह चार्ट एक लाइन या बार चार्ट की तुलना में कम लोकप्रिय है, लेकिन यह बहुत पुराना है – इसका हस्तलिखित संस्करण 17वीं शताब्दी में चीन में चावल बेचते समय और वास्तविक मूल्य की गणना करते समय उपयोग किया गया था!

यदि आप यह पता लगाने का कार्य करते हैं कि स्टॉक को कैसे समझा जाए, तो आपको पहले जापानी कैंडल्स पर ध्यान देना चाहिए। चार्ट में टेल्स के साथ रेक्टेंगल होते हैं – ये कैंडल का शरीर और उसकी छाया हैं। प्रत्येक व्यक्तिगत तत्व का अर्थ है एक निश्चित अवधि में क्वोट में उतार-चढ़ाव।

समय सीमा उपयोगकर्ता द्वारा सेटिंग्स में इंगित की जाती है। स्टॉक चार्ट को पढ़ते हुए, याद रखें कि जैसा कि बार ग्राफ के मामले में होता है, आमतौर पर एक नए अंतराल की शुरुआत के साथ एक और कैंडल बनती है।

हेइकिन-एशी कैंडलस्टिक्स: शुरुआत करने वालों के लिए एक गाइड

दृष्टिगत रूप से, मूल्य वृद्धि और गिरावट के मामले में उनके शरीर के विपरीत रंग के कारण कैंडल्स को आसान माना जाता है। मूल संस्करण में, काले रंग का अर्थ है भाव की कीमत घट रही है, सफेद रंग का अर्थ है बढ़ना। एक ट्रेडर ट्रेडिंग टर्मिनल की सेटिंग में जाकर अन्य शेड्स चुन सकता है।

विभिन्न चार्ट की सुविधा

प्रत्येक टूल के अपने सकारात्मक और नकारात्मक पहलू होते हैं। स्टॉक को पढ़ने का तरीका जानने के लिए, प्रत्येक ग्राफ़ के फायदे और नुकसान के बारे में जागरूक रहें:

फायदेनुक्सान
लाइनओवरआल ट्रेंड की सादगी और स्पष्ट दृश्यनिर्णय लेने के लिए पर्याप्त डेटा नहीं
बारउपलब्ध डेटा की विस्तृत श्रृंखला और ओवरआल ट्रेंड का विस्तृत विज़ुअलाइज़ेशनशोर्ट-टर्म में तुरंत मूल्य दिशा निर्धारित करना मुश्किल
जापानी कैंडल्सशोर्ट-टर्म ट्रेंड की भविष्यवाणी, करने का अवसर देता है, कीमत की दिशा और पूरी जानकारी की स्पष्ट समझ प्रदान करता हैत्रि-आयामी छवि के कारण चित्रों को देखना मुश्किल है

निष्कर्ष

इस प्रकार, स्टॉक चार्ट पढ़ना प्रत्येक नौसिखिए के लिए एक बुनियादी कौशल है। इस विषय को समझना कठिन नहीं है, लेकिन आपको यह सीखने में बहुत समय देना होगा कि स्टॉक का सही और शीघ्रता से विश्लेषण कैसे किया जाए। यह कौशल उपयोगकर्ताओं को जनरल ट्रेंड और चयनित टूल्स की विश्वसनीयता का मूल्यांकन करने के साथ-साथ फंडामेंटल विश्लेषण के निष्कर्षों की शुद्धता की पुष्टि करने का अवसर देता है।

लाइक
साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!
सबंधित आर्टिकल
7 मिनट
वॉल्यूम कैंडलस्टिक्स: वे कैसे काम करते हैं और उनका उपयोग कैसे करें
4 मिनट
शुरुआती लोगों के लिए पेनन्ट पैटर्न का उपयोग कैसे करें
9 मिनट
दिन के व्यापार के लिए कई समय सीमाओं के साथ टेक्निकल विश्लेषण कैसे करें
5 मिनट
7 कैंडलस्टिक पैटर्न जो हर ट्रेडर को पता होना चाहिए
5 मिनट
कैंडलस्टिक चार्ट कैसे पढ़ें
4 मिनट
ट्रेडों को खोजने के लिए प्राइस एक्शन और कैंडलस्टिक्स का उपयोग कैसे करें

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें