ट्रेडिंग में लगातार अच्छे परिणामों को प्राप्त करने के लिए 6 मनी मैनेजमेंट सीक्रेट्स

अनियोजित परिदृश्यों में पैसा बनाने का मौका होता है। वित्तीय प्रणाली में मंदी को अवशोषित करने के लिए बेन बर्नानके ने फेड की बैलेंस शीट को तीन गुना कर दिया। कार्ल इकान ने साबित कर दिया कि वह बाजार के उच्च और निम्न स्तरों को जानता था – जब उसने वित्तीय कठिनाइयों के दौरान लास वेगास की तीन संपत्तियां खरीदीं और बाजार में सुधार होने पर उन्हें भारी लाभ पर बेच दिया।

लेकिन ये निवेशक भी पैसा बनाने के लिए वित्तीय संकट पर भरोसा करने की सलाह नहीं देंगे। यह आपको आवेगी ट्रेड के मार्ग पर ले जा सकता है। प्रत्येक ट्रेडर, शुरुआती या एडवांस्ड, को संपत्ति चुनने, प्रवेश करने और बाहर निकलने, पोजीशन का साइज़ निर्धारित करने आदि के लिए एक व्यवस्थित पद्धति का पालन करना चाहिए। आपकी ट्रेडिंग पद्धति का एक अनिवार्य हिस्सा धन प्रबंधन होना चाहिए।

घर से ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे शुरू करें

उन लोगों के लिए जिन्होंने बुनियादी धन प्रबंधन के बारे में सब कुछ सुना है, इस लेख ने कुछ कम ज्ञात रणनीतियों के बारे में बताया है।

1. फिक्स्ड फ्रैक्शनल सिस्टम 

फिक्स्ड फ्रैक्शनल सिस्टम यह सुनिश्चित करता है कि पोजीशन का साइज़ जोखिम के स्तर के समानुपाती हो। एक जोखिम भरा ट्रेड छोटा होना चाहिए, और एक कम जोखिम वाला ट्रेड  बड़ा होना चाहिए। नुकसान और लाभ के संभावित मूल्य के साथ ट्रेडिंग करके, आप नुकसान को सीमित कर सकते हैं और जीत से अधिक लाभ उठा सकते हैं।

2. फिक्स्ड-रेशो सिस्टम 

फिक्स्ड-रेशो सिस्टम पिछले मनी मैनेजमेंट मेथड के समान है। केवल इस बार, गणना संचित लाभ पर आधारित है। इसलिए, आप उच्च पोजीशन साइज़ के साथ ट्रेड करने से पहले प्राप्त करने के लिए लाभ की एक निश्चित राशि का चयन करें।

यह प्रणाली बाजार में आपके जोखिम को बढ़ाते हुए आपके संचित लाभ की रक्षा करने के लिए है।

3. केली क्राइटिरीअन फार्मूला 

केली क्राइटिरीअन आपके पिछले ट्रेडों पर आधारित है। यह अतीत में आपके समान ट्रेडों को ध्यान में रखते हुए आपको बताता है कि आपको एक नई ट्रेडिंग पोजीशन में कितना निवेश करना चाहिए। बेहतर परिणामों के लिए, 100 से अधिक ट्रेडों के लिए डेटा प्रदान करने की सलाह दी जाती है।

Kelly % = Win percentage – [(1 – Win percentage) / Win to loss ratio]

इस प्रकार, आप प्रति ट्रेड अपनी अधिकतम राशि का पता लगा लेंगे। यदि आप अधिक रूढ़िवादी होना चाहते हैं तो आप कम राशि का ट्रेड कर सकते हैं; क्या अधिक महत्वपूर्ण है वो है कि आप अधिक ट्रेड न करें।

आप एक डे-ट्रेडर के रूप में कितना कमा सकते हैं?
आप संभावित रिटर्न सीख जाएं तो बेहतर होगा—ज़्यादा आय के बारे में सपने देखना नहीं लेकिन यह जानना कि आपको हर ट्रेड के लिए कितना निवेश करना चाहिए।
अधिक पढ़ें

4. ऑप्टीमल एफ़

मनी मैनेजमेंट 2022 के लिए एक शुरुआती गाइड

ऑप्टीमल एफ़ एक निर्धारित अवधि से सबसे बड़े नुकसान के आधार पर आपके ऑप्टीमल ट्रेडिंग साइज़ को निर्धारित करने का एक और तरीका है।

N = (F * Equity / risk) / Price

अपनी गणनाओं पर नज़र रखने के लिए, एक स्प्रेडशीट का उपयोग करने पर विचार करें। प्रत्येक ट्रेड के साथ प्रतिशत बदलता है, इसलिए आप बहुत सारी संख्याओं से निपटेंगे।

यह प्रणाली अन्य प्रणालियों की तुलना में सख्त है: यदि आपका ऑप्टीमल एफ़ 8% है, तो प्रत्येक ट्रेड आपके खाते का 8% होना चाहिए; न आधिक न कम।

5. मोंटे कार्लो सिमुलेशन

मोंटे कार्लो सिमुलेशन एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो इस धारणा पर आधारित है कि आपके भविष्य के प्रदर्शन को आपके पिछले ट्रेडों से प्राप्त किया जा सकता है। सिमुलेशन आपको कुल नुकसान की संभावना बताएगा और आपके ऑप्टीमल ट्रेड साइज़ की गणना करेगा। संभाव्यता वितरण आपके इनपुट पर आधारित होगा।

ध्यान रखें कि कंप्यूटर हर संभव चीज़ का हिसाब नहीं रख सकता है, इसलिए इसे ट्रेडों को मापने के लिए सहायता के रूप में मानें।

6. मार्टिंगेल सिस्टम 

सिस्टम के अनुसार, आप अपने सभी नुकसानों की भरपाई करेंगे यदि आप हर बार पिछले ट्रेड  के हारने पर ट्रेड के आकार को दोगुना करते हैं। यदि अगला ट्रेड सफल होता है, तो आपको प्रारंभिक ट्रेड साइज़ में वापस जाना चाहिए।

आक्रामक ट्रेडर्स के लिए यह विधि सबसे अच्छा काम करती है क्योंकि लंबे समय तक हारने वाली स्ट्रीक आपके पूरे खाते को जोखिम में डाल देगी। इसके लिए आपके पास बड़ी ट्रेडिंग कैपिटल भी होनी चाहिए।

धन प्रबंधन ट्रेडिंग परिणामों को कैसे प्रभावित करता है?

आपके जोखिम प्रबंधन करने की क्षमता को बेहतर बनाने के लिए 7 आसान टिप्स

कोई भी ट्रेडर तकनीकी रूप से कितना भी कुशल क्यों न हो, धन प्रबंधन उनके करियर की लंबी उम्र को सबसे अधिक प्रभावित करेगा। यह सीधे आपके मुनाफे में वृद्धि नहीं करेगा। लेकिन यह कुछ और भी महत्वपूर्ण काम करेगा: यह आपकी ट्रेडिंग पूंजी को संरक्षित करने में आपकी सहायता करेगा। यदि आप वित्तीय नुकसान और बेन बर्नानके जैसे संकटों को अवशोषित करने में सक्षम होना चाहते हैं, तो धन-प्रबंधन तकनीक बहुत जरूरी है।

धन प्रबंधन की अवधारणा जोखिम प्रबंधन से निकटता से जुड़ी हुई है। इसलिए, सभी पहचाने जाने योग्य जोखिमों पर विचार करना, उनकी तैयारी करना और उनका प्रबंधन करना भी सुनिश्चित करें।

साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!
सबंधित आर्टिकल
4 मिनट
स्टॉक एक्सचेंज पर व्यापार कैसे करें
4 मिनट
सबसे अच्छा ऑनलाइन ब्रोकर कैसे चुनें
5 मिनट
स्टॉक खरीदने का सबसे अच्छा समय कब है?
4 मिनट
5 जोखिम प्रबंधन टिप्स जो आपके ट्रेडिंग को बेहतर बनाएंगी
4 मिनट
शेयर बाजार में बांड क्या हैं?
6 मिनट
वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए कैसे पर 4 कदम गाइड

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें