डे ट्रेडिंग के लिए 3 बेस्ट इंडीकेटर्स

आप सोच सकते हैं कि ट्रेडिंग इंडीकेटर्स हमारे समय के साइन हैं, लेकिन 1800 के दशक के अंत में टेक्निकल एनालिसिस सबसे पहले इंकलिंग्स के रूप में उभरा, जब चार्ल्स डाउ अपनी द डाउ थ्योरी लाये थे। आज अनेक इन्वेस्टर्स सफल ट्रेडिंग का श्रेय टेक्निकल इंडीकेटर्स को देते हैं। यदि ऐसा है, तो आपकी ट्रेडिंग की सफलता सुनिश्चित करने के लिए बेस्ट इंडीकेटर्स क्या हैं? इस गाइड में, हम डे ट्रेडिंग में यूज़ करने के लिए 3 बेस्ट इंडीकेटर्स पर एक नज़र डालेंगे। इन इंडीकेटर्स के साथ एक सेंसिबल ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी आपकी ट्रेडिंग को नेक्स्ट लेवल पर ले जा सकती है। वे यहाँ हैं:

रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडिकेटर (आरएसआई)

प्रत्येक शुरुआती ट्रेडर के लिए शीर्ष 5 ट्रेडिंग संकेतक (इंडीकेटर्स)

सबसे ज़्यादा रेकग्नाइज़्ड और यूज़्ड टेक्निकल इंडीकेटर्स में से एक रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडिकेटर या आरएसआई है। इसका यूज़ ट्रेडर्स ओवरसोल्ड और ओवरबॉट मार्केट्स जानने के लिए करते हैं। जिस तरह से यह इंडिकेटर काम करता है वह एकदम सिंपल है। आरएसआई एक एसेट की कीमत में उतार-चढ़ाव को मापता है और एक ट्रेडर को बताता है कि क्या उस एसेट के लिए मौजूदा प्राइस ट्रेंड उचित हैं। इसकी वैल्यू 0 और 100 के बीच होती है और इसे एक लाइन के रूप में डिस्प्ले किया जाता है जो एक ग्राफ पर दो ऐक्सट्रीम्स के बीच घूमती है। 

आरएसआई इंडिकेटर का यूज़ डे ट्रेडर्स डाइवर्जेन्सेस और कन्वर्जेन्सेस के लिए करते हैं। यदि इंडिकेटर के लौस और हाईस प्राइस ट्रेंड के साथ सिंक में है तो एक कन्वर्जेन्स होगा। इससे यह संकेत मिलता है कि मार्केट ट्रेंड मज़बूत है और इसके जारी रहने की पूरी संभावना है और वाईस-वर्सा।

सामान्य परिस्थितियों में आरएसआई वैल्यू 30% से 70% के बीच होती है। इसके आधार पर, बियरिश और बुल्लिश सिग्नल्स जेनेरेट होते हैं। आम तौर पर, यदि आरएसआई लगभग 70% के अराउंड रहता है, तो ये यह इंडीकेट करता है कि मार्केट ओवरसोल्ड है और यदि यह लगभग 30% है, तो इसका मतलब है कि यह अंडरसोल्ड है। 

सिंपल मूविंग एवरेज (एसएमए)

सिंपल मूविंग एवरेज या एसएमए एक इंडिकेटर है जो किसी विशेष एसेट के लिए क्लोज़िंग प्राइसेस के एवरेज को कैलकुलेट करता है। इसे रेगुलरली अपडेट किया जाता है, और एक स्पेसिफ़िक टाइम फ्रेम पर एवरेज की जांच की जा सकती है। 

यह ट्रेडिंग वर्ल्ड में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले इंडीकेटर्स में से एक है, और प्रत्येक बिगिनर एसएमए और आरएसआई के कॉम्बिनेशन के साथ अपनी ट्रेडिंग जर्नी शुरू करने की इच्छा रखता है। यह बहुत सिंपल और इज़ी टू यूज़ है और इसके लिए बहुत अधिक टेक्निकल ऐक्सपर्टीज़ की आवश्यकता नहीं है। मार्केट ट्रेंड क्या है, यह जानने के लिए, केवल एसएमए की डायरेक्शन का पालन करें, यदि यह ऊपर की ओर बढ़ रहा है, तो एसेट प्राइस भी ऊपर बढ़ेगी और वाईस-वर्सा। 

बफेट इंडिकेटर। यह क्या है?

एसएमए के बारे में जानने के लिए एक महत्वपूर्ण बात है कि ये एक इंडिकेटर है जो ट्रेंड को फॉलो करता है और प्राइस मूवमेंट पर पिछले डेटा पर आधारित होता है। उदाहरण के लिए, 200 दिनों की एसएमए और 50 दिनों की एसएमए का मतलब है पिछले 200 और 50 दिनों की प्राइस ट्रेंड। 

एसएमए सबसे ज़्यादा कस्टमाइज़ेबल इंडीकेटर्स में से एक है और इसे लॉन्ग और शॉर्ट-टर्म पीरियडस में बनाया जा सकता है। रेसिस्टेंस और सपोर्ट लेवल्स को भी एसएमए पर लागू किया जा सकता है।

11 उद्धरण जो आपके ट्रेडिंग को बदल सकते हैं
प्रसिद्ध व्यापारियों, अर्थशास्त्रियों और उद्यमियों से इन शक्तिशाली ट्रेडिंग ज्ञान की बातों को देखें।
अधिक पढ़ें

ऑन बैलेंस वॉल्यूम (ओबीवी)

अक्सर डे ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा वॉल्यूम इंडिकेटर माना जाने वाला, ऑन बैलेंस वॉल्यूम या ओबीवी किसी एसेट की प्राइस में फ्यूचर चेंज प्रिडिक्ट करता है। यह पहली बार 1963 में विकसित और लागू किया गया था।

जैसा की नाम से पता चलता है, यह फ्यूचर ट्रेंड को प्रिडिक्ट करने के लिए वॉल्यूम फ्लो का उपयोग करता है। इस इंडिकेटर के पीछे बेसिक आईडिया यह है कि किसी इंस्ट्रूमेंट की प्राइस उसके ट्रेडिंग वॉल्यूम में रिफ्लेक्ट होगी। ओबीवी खरीदारों को उस विशेष इंस्ट्रूमेंट की प्रेजेंट वॉल्यूम का एनालिसिस करके यह अनुमान लगाने में मदद करता है कि उसकी प्राइस बढ़ेगी या कम होगी। 

इंडिकेटर की वैल्यू नेगेटिव या पॉजिटिव हो सकती है। हालांकि, ट्रेडर्स किसी एसेट की वास्तविक प्राइस में रुचि नहीं रखते हैं। इसके बजाय, वे किसी भी डाईवर्जन, रिवर्सलस, ट्रेंड कन्फर्मेशन्स, एग्जॉस्टसन मूव्स आदि को जानने के लिए ट्रेंडलाइन की डायरेक्शन को देखने के लिए अधिक कंसर्नड हैं। 

सम-अप करने के लिए

स्टॉक खरीदने के लिए मूविंग एवरेज का उपयोग कैसे करें

टेक्निकल इंडीकेटर्स शक्तिशाली टूल्स हैं जो आपको ठोस निर्णय लेने और डे ट्रेडिंग में रिवार्ड्स प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। इस पोस्ट में बताये गए तीनों इंडीकेटर्स एक्यूरेट, रिलाएबल, और ईज़ी टू यूज़ हैं। एक बार जब आप इन इंडीकेटर्स पर महारत हासिल कर लेते हैं, तो आप कॉन्फिडेंटली अपने आप ट्रेडिंग फैसले ले सकते हैं। इन इंडीकेटर्स का उपयोग करने से आपको मार्केट ट्रेंड देखने में मदद मिलेगी और आप बेहतर फिनांशल डीसीज़न्स लेने की स्थिति में होंगे। कृपया ध्यान रखें कि ये टेक्निकल इंडीकेटर्स केवल इंडीकेटर्स हैं, किसी भी फिनांशल इन्वेस्टमेंट में कुछ जोखिम हो सकते हैं और आपके पास हमेशा एक बैकअप योजना होनी चाहिए।

लाइक
साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!
सबंधित आर्टिकल
4 मिनट
सबसे लोकप्रिय फ्लैट संकेतक क्या हैं?
6 मिनट
इंडीकेटर्स को ठीक से कैसे संयोजित करें
4 मिनट
स्विंग ट्रेडर्स के लिए 5 सर्वश्रेष्ठ ट्रेडिंग इंडीकेटर्स
7 मिनट
एक स्टोकेस्टिक इंडिकेटर का उपयोग कैसे करें
4 मिनट
सबसे सटीक ट्रेडिंग संकेतक कौनसे हैं?
7 मिनट
किसी ट्रेंड के अंत की पहचान कैसे करें

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें