डे ट्रेडिंग बनाम स्विंग ट्रेडिंग में क्या अंतर है?

डे ट्रेडिंग और स्विंग ट्रेडिंग प्रमुख ट्रेडिंग एप्रोच में से हैं। पहले का मतलब छोटी अवधि के भीतर छोटे ट्रेड करना है, जबकि बाद वाला मध्यम अवधि के पोजीशन पर विचार करता है। कोई तरीका सर्वोत्तम नहीं है। विचार प्रत्येक तरीके के अनूठे बिंदुओं को जानने और अपनी जीवन शैली और धन प्रबंधन रणनीति के अनुकूल होने वाले तरीके को अपने लिए चुनना है। तकनीकों के बारे में और जानने के लिए पढ़ें।

डे ट्रेडिंग बनाम स्विंग ट्रेडिंग

हालांकि डे ट्रेडिंग और स्विंग ट्रेडिंग का मतलब शोर्ट टर्म ट्रेड्स है, ये आपस में विपरीत एप्रोच हैं। जो आपको सबसे अधिक सूट करता है उसे चुनने के लिए इनकी अनूठी विशेषताओं के बारे में पढ़े।

डे ट्रेडिंग 

दिलचस्प बात यह है कि यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (एसईसी) के अनुसार, ज्यादातर डे ट्रेडर्स को पहले महीनों में बहुत ज़्यादा वित्तीय नुकसान होता है, और कई सकारात्मक जीत दर तक पहुंच ही नहीं पाते हैं। यह सच है यदि आपके पास पर्याप्त अनुभव नहीं है। हालांकि डे ट्रेडिंग एक लोकप्रिय रणनीति है, केवल अच्छे स्किल वाले ट्रेडर्स ही इसका उपयोग करके सफल हो पाते हैं।

डे ट्रेडिंग का आईडिया एक ट्रेडिंग दिन के भीतर कई छोटे ट्रेडों को खोलना और बंद करना है और कुछ ट्रेडों के नुकसान को दूसरों से रिटर्न के साथ कवर करना है। इस तरीके के लिए तेज प्रतिक्रिया, अच्छी तरह से संरचित रणनीतियां और पूर्ण भावनात्मक नियंत्रण की आवश्यकता होती है। एक दिन के भीतर ट्रेड करने के लिए, आपको यह जानना होगा कि फंडामेंटल विश्लेषण कैसे लागू किया जाए। मुख्य रूप से, डे ट्रेडर्स मूलभूत कारकों का उपयोग करते हैं जो छोटी अवधि के भीतर बाजार की अस्थिरता को बढ़ाते हैं।

डे ट्रेडिंग को एक रियल जॉब माना जाता है, क्योंकि इसमें ट्रेडर्स को बाजार के काम के घंटों के भीतर प्राइस मूवमेंट की निगरानी करने की आवश्यकता होती है, जिससे अन्य कर्तव्यों के लिए समय नहीं निकलता है।

डे ट्रेडिंग का प्रमुख लाभ ट्रेडों पर नियंत्रण रखना है। चूंकि एक ट्रेडिंग दिन के भीतर पोजीशन बंद हो जाती है, ट्रेडर को परिणाम के बारे में पता होता है और अपने परिणामों के अनुसार वह अन्य पोजीशन सेट कर सकता है।

स्विंग ट्रेडिंग

इस मेथड का नाम इसके विचार की व्याख्या करता है। एक ट्रेडर प्राइस मूवमेंट में स्विंग को देखता है। इसलिए, वे ऐसे चार्ट पैटर्न और तकनीकी इंडीकेटर्स का उपयोग करते हैं जो मूल्य दिशा में बदलाव की भविष्यवाणी कर सकते हैं। स्विंग ट्रेडर्स ज्यादातर स्ट्रोंग ट्रेंड्स का उपयोग करते हैं जो निवेशकों को प्राइस रिवर्सल को परिभाषित करने में मदद कर सकते हैं।

इस मेथड में ट्रेडर के अधिक समय की आवश्यकता नहीं होती है, क्योंकि पोजीशन कई दिनों से लेकर हफ्तों तक खुली रहती है। हालांकि, इस एप्रोच के लिए ट्रेडर्स को बिना किसी अपवाद के स्टॉप-लॉस और टेक-प्रॉफिट ऑर्डर सेट करने की आवश्यकता होती है। जैसा कि ट्रेडर लगातार कीमतों में हो रहे उतार-चढ़ाव को देख नहीं पाते हैं, उन्हें यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि अगर बाजार उनके पूर्वानुमान के उल्ट चलता है तो उन्हें अपने सभी फंड नहीं खोने पड़े। इसके अलावा, डे ट्रेडर्स के विपरीत, स्विंग ट्रेडर्स को रोलओवर शुल्क को ध्यान में रखना होगा; ये रातोंरात ट्रेडों को होल्ड करने के कारण देने होते हैं और ये या तो खाते से जोड़े या मिटा दिए जाते हैं।

स्विंग ट्रेडिंग उन ट्रेडर्स के लिए उपयुक्त है जिनके पास बाजार पर नजर रखने के लिए ज्यादा समय नहीं है। ये ट्रेडर्स तेजी से बदलती बाजार स्थितियों से मेल खाने के बजाय महत्वपूर्ण धन का निवेश करना और परिणाम की प्रतीक्षा करना पसंद करते हैं।

स्कैल्पिंग बनाम डे ट्रेडिंग बनाम स्विंग ट्रेडिंग

स्कैल्पिंग को ज्यादातर डे ट्रेडिंग का एक उपप्रकार माना जाता है, क्योंकि स्केलपर्स एक ट्रेडिंग दिन के भीतर ट्रेडों को निष्पादित करते हैं। स्कैल्पिंग और डे ट्रेडिंग के बीच महत्वपूर्ण अंतर यह है कि स्कैल्पर कुछ सेकंड के लिए या अधिकतम पांच मिनट तक पोजीशन खोलते हैं, जबकि डे ट्रेडर्स घंटों के लिए पोजीशन को खुला रखते हैं।

डे ट्रेडर होने की तुलना में एक स्कैल्पर बनना और भी जटिल है, क्योंकि आपको अन्य ट्रेडों के खर्चों और संभावित नुकसान को कवर करने के लिए कई ट्रेडों को खोलने की आवश्यकता होती है। आपको याद रखना चाहिए कि ब्रोकर आपके द्वारा खोले गए प्रत्येक ट्रेड पर शुल्क लेता है। इसलिए, यदि आप एक दिन के भीतर सैकड़ों पोजीशन को खोलते हैं, तो आपको सैकड़ों के लिए फीस देना होगा।

एक स्कैल्पर के लिए महत्वपूर्ण आवश्यकता एक अत्यधिक तरल बाजार का निर्धारण करना है ताकि कीमत अल्पावधि के भीतर पूर्व निर्धारित स्तर तक पहुंच जाए।

डे ट्रेडिंग बनाम स्विंग ट्रेडिंग बनाम निवेश

हालांकि डे ट्रेडिंग और स्विंग ट्रेडिंग को इन्वेस्टमेंट एप्रोच भी कहा जा सकता है, यहां निवेश का मतलब एक लंबी अवधि की रणनीति है।

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, डे ट्रेडिंग कई घंटों के भीतर किया जाता है, जबकि स्विंग ट्रेडिंग में कई दिनों से लेकर कई हफ्तों तक का समय लगता है। निवेश आमतौर पर कई हफ्तों से लेकर सालों तक की अवधि के लिए किया जाता है। एक निवेशक एक परिसंपत्ति खरीदता है और इसे बाद में जब इसका मूल्य बढ़ जाए बेचने के लिए विस्तारित अवधि के लिए रखता है।

जब आप डे ट्रेडिंग बनाम स्विंग ट्रेडिंग बनाम लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट की तुलना करते हैं, तो आपको अपने लक्ष्यों पर विचार करना चाहिए, कितनी राशि आप दिवालिया होने के जोखिम के बिना खर्च करने के लिए तैयार हैं, और आप किन संपत्तियों से डील करना चाहते हैं।

  • सभी तीन एप्रोच सभी वित्तीय बाजारों पर लागू किए जा सकते हैं। हालांकि, डे और स्विंग ट्रेडिंग के विपरीत, इन्वेस्टमेंट मुख्य रूप से स्टॉक या क्रिप्टोकुरेंसी बाजारों में किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि स्टॉक और क्रिप्टो की तुलना में फोरेक्स कम अस्थिर है। ज्यादातर मामलों में, यह एक गैर-लाभकारी रणनीति है कि एक मुद्रा खरीदें और इस मुद्रा के दूसरे के मुकाबले आसमान छूने की प्रतीक्षा करें।
  • निवेश के लिए डे या स्विंग ट्रेडिंग से भी कम धन की आवश्यकता हो सकती है। हालांकि, काफी रिटर्न प्राप्त करने के लिए, आपको बहुत खरीदना भी होगा।
  • डे ट्रेडिंग को फुल टाइम जॉब माना जाता है। स्विंग ट्रेडिंग एक अंशकालिक गतिविधि है जो ट्रेडर्स  को मध्य अवधि के भीतर कई ट्रेड खोलने की अनुमति देती है। निवेश का उपयोग ज्यादातर सेवानिवृत्ति बचत के लिए किया जाता है और इसे सीमित संपत्ति में एक बड़ा निवेश माना जाता है।

डे ट्रेडिंग बनाम स्विंग ट्रेडिंग: कौन बेहतर है

यदि आप एक दिन के भीतर कई ट्रेड खोलने की योजना बना रहे हैं और आपके पास घाटे से निपटने और सफल ट्रेडों के साथ घाटे को पार करने का पर्याप्त अनुभव है, तो आपको डे ट्रेडिंग का चयन करना चाहिए। यदि आप एक ट्रेंडिंग मार्केट का लाभ उठाना पसंद करते हैं और आपके पास ट्रेड को दिनों या हफ्तों तक रखने के लिए पर्याप्त फंड है, तो स्विंग ट्रेडिंग आपके लिए है।

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
5 मिनट
स्विंग ट्रेडिंग - इंट्राडे ट्रेडिंग और स्थिति व्यापार का एक सुलभ संकलन
6 मिनट
मनी मैनेजमेंट 2022 के लिए एक शुरुआती गाइड
3 मिनट
अपने अनुकूलित ट्रेडिंग रणनीति खोजें: कब और क्या ट्रेड करना है
5 मिनट
भारत में ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे शुरू करें
3 मिनट
वित्तीय लक्ष्य क्या है?
5 मिनट
ऑनलाइन ट्रेडिंग कैसे शुरू करें