फ्यूचर्स क्या हैं: एक निवेशक के लिए मार्गदर्शिका

फ्यूचर्स आपके लाभ के लिए कैसे काम करता है? फ्यूचर्स में निवेश करने से औसतन 55/100 की प्रतिस्पर्धी जीत दर प्राप्त होती है, जिसे अधिकांश डे-ट्रेडर्स के लिए बहुत ही आकर्षक माना जाता है। अधिक से अधिक लोग नियमित शेयरों की तुलना में फ्यूचर्स चुन रहे हैं, क्योंकि वे औसत अमेरिकी के लिए अधिक सुलभ हैं। लेकिन स्टॉक में फ्यूचर्स क्या होते हैं और वे वास्तव में कैसे काम करते हैं? क्या सभी फ्यूचर्स समान हैं? खैर, जानने के लिए पढ़ें।

फ्यूचर्स ट्रेडिंग 

बांड में निवेश कैसे करें?

फ्यूचर्स ट्रेडिंग क्या है? जैसा कि नाम का तात्पर्य है, “फ्यूचर” एक मानकीकृत और कानूनी अनुबंध है जो भविष्य से जुड़ा हुआ है। यह मुख्य रूप से लाभ प्राप्त करने के लिए, भविष्य में एक निश्चित समय पर संपत्ति खरीदने और बेचने का एक समझौता है। इसका उपयोग विभिन्न बाजारों में मूल्य अस्थिरता से बचाने के लिए किया जाता है, लेकिन सट्टेबाजों द्वारा भी किया जाता है जो औसत प्राइस मूवमेंट्स पर लाभ प्राप्त करना चाहते हैं।

फ्यूचर्स कैसे काम करता है

फ्यूचर्स आपको किसी स्टॉक या संपत्ति के लिए एक विशिष्ट मूल्य प्राप्त करने की अनुमति देता है, जैसे कि क्रिप्टोकरेंसी, और फिर इसे भविष्य में एक अलग (आमतौर पर अधिक) कीमत पर बेचने का अवसर देते है। जब आप सीख रहे हैं कि फ्यूचर्स ट्रेडिंग क्या है, तो फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट्स के बारे में विचार करने के लिए तीन घटक हैं:

1. समाप्ति तिथि

समाप्ति तिथि वह तारीख है जब फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट समाप्त होता है। सीधे शब्दों में कहें तो, यह वह दिन है जब एक पक्ष को फ्यूचर्स खरीदना होता है और दूसरे को इसे पूर्व निर्धारित मूल्य पर बेचना होता है। इसे ध्यान में रखते हुए, इसे बेचने वाली पार्टी कोई ऐसा व्यक्ति भी हो सकता है जिसने अनुबंध के परिपक्व होने से पहले पिछले मालिक से अनुबंध खरीदा हो।

2. प्रति अनुबंध यूनिट्स 

यह हिस्सा ठीक से परिभाषित करेगा कि अनुबंध का मूल्य क्या है। संपत्ति का मूल्य एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म में बदल सकता है। यदि अनुबंध में बिटकॉइन की एक विशिष्ट संख्या शामिल है, उदाहरण के लिए, अनुबंध को उस सटीक राशि के साथ-साथ प्रेफरड करेंसी में उनके मूल्य को निर्दिष्ट करना होगा।

3. लिवरेज 

थीमैटिक बनाम डेरीवेटिव निवेश – एक विस्तृत विश्लेषण 2022

फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट पर लाभ को बढ़ाने के लिए लिवरेज का उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए, फ्यूचर्स ट्रेडिंग उपयोगकर्ताओं को एक निश्चित मात्रा में पूंजी उधार लेने की अनुमति दे सकता है, जिससे उनका ट्रेडिंग साइज़ बड़ जाता है। लिवरेज एक प्लेटफॉर्म से दूसरे प्लेटफॉर्म में बदल सकता है, लेकिन अधिकांश प्लेटफॉर्म 1:20, 1:50 और 1:100 के अनुपात की अनुमति देते हैं।

11 उद्धरण जो आपके ट्रेडिंग को बदल सकते हैं
प्रसिद्ध व्यापारियों, अर्थशास्त्रियों और उद्यमियों से इन शक्तिशाली ट्रेडिंग ज्ञान की बातों को देखें।
अधिक पढ़ें

फ्यूचर्स टाइप्स क्या हैं?

आप जो बेच रहे हैं उसके आधार पर फ्यूचर्स को विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है। सबसे आम निम्नलिखित हैं:

Go
गो दबाएं और पहिया आपके लिए दिन का अपना लेख चुनेगा!

1. स्टॉक फ्यूचर्स

स्टॉक फ्यूचर्स ट्रेडेड फ्यूचर का सबसे आम प्रकार है, क्योंकि स्टॉक सबसे लंबे समय से निवेश का पसंदीदा तरीका रहा है। इस प्रकार के फ्यूचर्स के साथ, आप स्टॉक इंडेक्स खरीदते हैं और फिर आप उन्हें भविष्य में किसी विशेष समय पर, एक निश्चित कीमत पर बेचते हैं। ये फ्यूचर्स S&P 500 जैसे विशिष्ट बेंचमार्क को ट्रैक करते हैं।

2. कमोडिटी फ्यूचर्स

कमोडिटी फ्यूचर्स भविष्य में कमोडिटीज के लिए कीमतों में बदलाव के खिलाफ हेजिंग को सक्षम बनाता है। इसमें सोना, पेट्रोलियम, चांदी और कृषि उत्पाद शामिल हैं। उदाहरण के लिए, एक निवेशक मूल्यह्रास के खिलाफ बचाव और कमोडिटी के प्राइस मूवमेंट से बचने के लिए फ्यूचर्स में निवेश कर सकता है।

3. करेंसी फ्यूचर्स

करेंसी फ्यूचर्स बहुत लोकप्रिय हैं, खासकर अंतरराष्ट्रीय बाजार में। इस प्रकार के फ़्यूचर्स के साथ, आप एक निश्चित समय पर किसी अन्य मुद्रा के विरुद्ध एक निश्चित मुद्रा खरीद (या बेच) सकते हैं। यह उन लोगों के लिए उपयुक्त विकल्प हैं जो जोखिमों से बचाव करना चाहते हैं और मुद्रा के मूल्य के बढ़ने या मूल्यह्रास से रक्षा करना चाहते हैं।

4. इंटरेस्ट रेट फ्यूचर्स

डॉव जोन्स क्या है?

इंटरेस्ट रेट फ्यूचर्स के साथ, आप भविष्य में एक निश्चित समय पर एक पूर्व निर्धारित मूल्य के साथ इंस्ट्रूमेंट्स को खरीदने और बेचने के लिए सहमत होते हैं। आमतौर पर, ये संपत्तियां या तो ट्रेजरी बिल या सरकारी बांड होती हैं।

बॉटम लाइन

तो, फ्यूचर्स ट्रेडिंग क्या है, और निवेशक इसे इतना पसंद क्यों करते हैं? फ्यूचर्स क्या हैं, इस सवाल का जवाब देना आसान है। फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट में एक निश्चित मूल्य निर्धारित करके, आप मूल्यह्रास और अन्य नकारात्मक मूल्य परिवर्तनों से अपनी रक्षा करते हैं। जबकि एक जोखिम है कि आप उच्च वृद्धि के अवसर को खो सकते हैं, लेकिन आपके पैसे खोने की संभावना बहुत कम है। यदि आप लंबी अवधि में निवेश कर रहे हैं, तो छोटे लाभ अच्छी तरह से बढ़ सकते हैं।

लाइक
साझा करें
लिंक कॉपी करें
लिंक कॉपी किया गया
सबंधित आर्टिकल
5 मिनट
म्यूचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश कैसे करें?
4 मिनट
अचल संपत्ति में निवेश कैसे करें: 5 सुनहरे नियम
4 मिनट
पर्सनल फाइनेंस पर शीर्ष 5 पुस्तकें
5 मिनट
क्रिप्टोक्यूरेंसी: शुरुआती लोगों के लिए एक गाइड
4 मिनट
निवेश करने से पहले स्टॉक का मूल्यांकन कैसे करें
5 मिनट
शेयर बाजार कब और क्यों बंद होता है.

इस पेज को किसी अन्य एप में खोलें?

रद्द करें खोलें