वित्तीय योजना कैसे बनाएँ

विवरण: यदि आप वर्तमान में स्थिरता, भविष्य में समृद्धि और यह चाहते हैं कि आपके देखे हुए सभी सपने सच हों तो वित्तीय योजना ज़रूरी है।आपके पास  अरबों डॉलर हों या कुछ डॉलर, आपके लक्ष्य शोर्ट टर्म हों या लॉन्ग टर्म, सफलता की कुंजी एक अच्छे वित्तीय योजना में ही है। सीखें वित्तीय योजना पाँच चरणों में कैसे बनाना है और दूसरों को सिखाएं।

शीर्षक: अपने सपनों की ओर पाँच कदम वित्तीय योजना की मदद से 

यदि आप अपने जीवन में किसी भी तरह के लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं तो कृपया इस बात का ध्यान रखें कि दुनिया धन पर चलती है। आज केवल यह जानना काफी नहीं है कि अपनी जीविका कैसे कमाए, या धन कैसे बचाएँ, यह ज़रूरी है कि अपने फंड्स का सही इस्तेमाल कैसे करें। बड़ी बात यह है कि यह नियम केवल अरबपतियों पर ही लागू नहीं होता है बल्कि हर उस पर लागू होता है जिसने जीवन में एक भी डॉलर कमाया है।सफलता की कुंजी एक वित्तीय योजना में ही है, जो आपकी कमाई को सही से इस्तेमाल करने का एक वास्तविक साधन है जिससे आपके बड़े से बड़े सपने साकार हों जाएं।

टिप्पणी ! वित्तीय योजना ही है जो आपके सपनों को सच करेगा!

आइए आईडिया लें कि वित्तीय योजना क्या है। यह वास्तव में इतना प्रोफेशनल लगता है कि आप को लगेगा इसे इसे केवल उच्च-स्तरीय वित्तीय द्वारा ही समझा जा सकता है। हकीकत में ऐसा बिल्कुल नहीं है बल्कि यह सबसे रचनात्मक और आकर्षक प्रक्रिया है। यह आपका शौक या प्रोफेशन भी बन सकता है, क्या पता?

अभी हम एक साथ सीखेंगे कि कैसे वित्तीय योजना बनाना है, बस कुछ ही चरणों में, और आप देखेंगे कि यह काफी आसान मामला है यदि आप जानते हैं कि वास्तव में परफॉर्म कैसे करना है।

1. अपनी संपत्ति जमा करें

सुनिश्चित करें कि आप अपनी वर्तमान संपत्तियों से अवगत हैं। जो कुछ भी आता है जैसे कि किराया से आय या शेयरधारक आय, वेतन, दान, उपदान या उपहार। यह सब आता है और आपका जमा बनता है, जैसा कि अकाउंटेंट कहते हैं। यह आपका शक्तिशाली पक्ष है और आप अपनी गणना इसके आधार पर बना सकते हैं। आंकड़ों को लिखें।

2. एक विस्तृत प्लान बनाएं

अगले 10 वर्षों में आपका जीवन कैसा होगा? अगले 20 वर्षों में? इसके बारे में आपको ज़रूर पता होना चाहिए। यदि आपके पास आगे बढ़ने का कोई लक्ष्य नहीं है, तो आप वास्तव में आगे बढ़ ही नहीं रहे हैं। न केवल आपकी व्यक्तिगत जरूरतों को प्लान में शामिल किया जाना चाहिए, बल्कि आपके बच्चों, रिश्तेदारों और दोस्तों की जरूरतों को भी शामिल किया जाना चाहिए, क्या पता आप एक दिन एक महान परोपकारी बनना चाह सकते हैं! बेशक, कोई भी अपने भविष्य के बारे में सुनिश्चित नहीं हो सकता, क्योंकि सब कुछ अपने आप पर निर्भर नहीं करता है पर फिर भी, अगर हम भविष्य के बारे में सोच ही नहीं रहे हैं, तो यह कभी नहीं बनेगा, है ना?

3. अपने लक्ष्य निर्धारित करें

लगभग सभी का एक लक्ष्य होता है, लेकिन हम हमेशा यह नहीं समझ पाते कि इसे कैसे प्राप्त किया जाए। कभी-कभी हम खुशी के अवसर की प्रतीक्षा करते हैं इस तथ्य को अनदेखा करते हुए कि हम इस अवसर को खुद बना सकते हैं।

सरल उत्तर फंड्स है, जो अक्सर जादू की छड़ी के रूप में कार्य करता है। अपने लक्ष्यों के अनुसार फंड्स का सही इस्तेमाल करें । तय करें कि आप अपने हिसाब से भविष्य की ज़रूरतों के लिए कितना खर्च करेंगे और इन आंकड़ों को लिखिए। समय सीमा तय कीजिए कि आप वास्तव में कब अपने सफल वित्तीय योजना के लाभों का आनंद लेने जा रहे हैं।

टिप्पणी! वर्तमान में आपके लाभ और भविष्य में आपके खर्च के बीच का अंतर

आपके वित्तीय योजना का सार बनाता है।

4. सुरक्षा पहले आती है

अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के रास्ते में, यह विचार करना बुद्धिमानी है कि क्या हम पूरी तरह से सुरक्षित हैं। क्या हमारे पास अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं? क्या हमने भविष्य में आने वाली सभी मुसीबतों सभी दुर्भाग्य पूर्ण स्थितियों, हमारे परिवार की सभी जरूरतों का पूर्वाभास कर लिया है ? इस बिंदु पर यह आवश्यक है कि फाइनेंसियल कुशन/ वित्तीय बफर कैसे बनाना है हम ये सीखें। इसमें बड़ी मात्रा में निवेश की आवश्यकता नहीं है लेकिन आपातकालीन स्थिति के लिए कुछ राशि रखना अच्छा है जैसे कि कुछ भी अप्रत्याशित होने पर आप एक निश्चित अवधि के लिए सामान्य रूप से कार्य करने में सक्षम नहीं होंगे।

5. परिणामों का आनंद लें

अब आप सफलतापूर्वक अपने लक्ष्य तक पहुँच चुके हैं। क्या आपको अब इसे पूरी तरह से रोकने और छोड़ने की ज़रूरत है? यह आपको तय करना है। अपने लाभ और हानि का विश्लेषण करें। अपने प्रारंभिक उम्मीदों और इरादों के बारे में सोचें। क्या आपको वो मिल गया है जो आप चाहते थे? यदि हाँ, तो यह दूसरा लक्ष्य सेट करने का समय आ गया है। यदि नहीं, तो हो सकता है, यह समय पीछे मुड़कर देखने और कुछ समय के लिए रुकने का है, यह जानने का है कि अब तक के नतीजों से आप खुश हैं, या नई ऊंचाइयों तक पहुंचने के इच्छुक हैं। अब आप ज्ञान और अनुभव से लैस हैं, तो सब कुछ आपके हाथ में है।

Note: वित्तीय योजना can also be written as फाइनेंसियल प्लान for more simple language and understanding of readers.

साझा करें
लिंक कॉपी करें
Link copied
सबंधित आर्टिकल
5 मिनट
10 गलतियां जो आपका पैसा ले जा सकती है
3 मिनट
पैसे के प्रति अपना नजरिया कैसे बदलें
5 मिनट
अपने दम पर ट्रेडिंग कैसे शुरू करें
4 मिनट
नेट वर्थ क्या है?
6 मिनट
आपकी युवावस्था में सीखने लायक सात वित्तीय सत्य
3 मिनट
शेयर बाजार में लेम बतख का क्या मतलब है?